Thursday, March 31, 2022

अब कर लो तैयारी LBSNAA चलने की || UPSC LBSNAA || UPSC/ IAS 2022 || Prabhat Exam

अब कर लो तैयारी LBSNAA चलने की।


सिविल सेवा परीक्षा 2022 की आधिकारिक टाइम लाइन जारी हो चुकी है। 5 जून को प्री है और अब इसमें लगभग दो महीनों का ही समय बचा है। हमें उम्मीद है कि आपने इसके लिए बढ़िया तैयारी कर रखी होगी और अब आखिरी समय में रिवीजन पर सारा ज़ोर लगा रहे होंगे। आखिरी दिनों में स्टूडेंट्स में मन में घबराहट और pressure साफ नजर आता है और कई बार यह घातक साबित है। लेकिन इन आखिरी दिनों में अगर सही स्ट्रेटजी के साथ तैयारी की जाए तो सफलता निश्चित हो जाती है। 

नमस्कार, स्वागत है आपका Prabhat Exam के YouTube Channel पर। ये एक ऐसा Platform है, जहां आपको मिलती हैं सभी Competitive exams से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां, जो आपकी किसी भी exam में सफल होने में काफी मदद कर सकती हैं। अगर आप हमारे YouTube Channel पर पहली बार आए हैं, तो हमें Like और Subscribe ज़रूर करें और हमारे latest videos और updates सबसे पहले आप तक पहुँचें इसके लिए Bell icon को press करना न भूलें। तो आइए शुरुआत करते हैं आज के video की, जो है - 

अब कर लो तैयारी LBSNAA चलने की।

1. प्लान बनाकर कार्य करिए - किसी भी परीक्षा में सफलता के लिए आवश्यक है प्लानिंग करना। सबसे पहले यह निर्धारित करिए कि पूरे दिन में क्या-क्या और कितना पढ़ना है। उसी लिहाज से अपने समय का भी इस्तेमाल करिए। अगर एक अच्छे प्लान के साथ तैयारी की शुरुआत होगी तो सफलता अवश्य मिलेगी।

2. अब नई अध्ययन सामग्री पर मोहित होना बंद करें: अन्तिम  यूपीएससी तैयारी की ऑनलाइन सामग्री की कोई भी बेतरतीब खोज न करें। कई उम्मीदवार अपना अंतिम समय नई अध्ययन सामग्री के पीछे व्यर्थ करते हैं। हो सकता है आप कोचिंग संस्थान की पत्रिकाओं के शीर्षक की ओर आकर्षित हों किंतु इस समय उनके झांसे में न आएं। यह किसी उद्देश्य की पूर्ति नहीं करेगा। जितने संसाधन आपके पास हैं उनका इस्तेमाल करें और अपनी पढ़ी हुई सामग्री को रिवाइज करें।

3. प्राथमिकता निश्चित करें: यह तैयारी का सर्वाधिक महत्वपूर्ण भाग है। उदाहरण के लिए, यह ज्ञात है कि  राजव्यवस्था एवं आधुनिक इतिहास से पूछे जाने वाले प्रश्न विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी से संख्या में बहुत अधिक हैं। अतः, दोनों पर समान रूप से ध्यान देने का कोई अर्थ नहीं है। यह वही है जैसा हमने हमने पहले भी कहा है, कि ‘अधिक ध्यान’ (वेटेड फोकस) कहाँ देना है निश्चित करें। 

4. स्वयं का आकलन करें:  प्रत्येक गुजरते वर्ष के साथ मॉक टेस्ट के महत्व में वृद्धि हो रही है। यदि आपने अब तक नहीं किया है तो टेस्ट सीरीज को हल करना शुरू करें। जिन्होंने पहले ही टेस्ट को हल कर लिया है, वे अच्छी तरह से पुनर्भ्यास करें एवं जिन्होंने नहीं किया है, वे कम से कम 15 पूर्ण लंबाई वाले टेस्ट को हल करें एवं उनका ठीक से  पुनराभ्यास करें। टेस्ट सीरीज़ आपके अपने ग्रे क्षेत्रों को जानने में सहायता करती है। याद रखें कि आप जिस भी खंड को पढ़ रहे हैं उसमें वैचारिक स्पष्टता हो। 

5. समाचार पत्रों का महत्व : उम्मीदवारों के बीच अखबार पढ़ना तथा करंट अफेयर की तैयारी के बारे में बहुत से भ्रम हैं। जैसे कि "मुझे अखबार पढ़ना चाहिये या नहीं अगर हां, तो क्या और कैसे", "करंट अफेयर क्या है और इसे कैसे तैयार किया जाए?" इत्यादि। सच पूछिए तो, आपको उन्हें पढ़ना बंद ही नहीं करना चाहिए। इसका कारण यह है कि समाचार नवीनतम मौजूदा मामलों की जानकारी के लिए एक निरंतर व प्रमुख स्रोत हैं। इसके अलावा अखबार पढ़ने से आपको कई प्रकार की युक्तियां भी मिलेंगी जिससे आपको अपनी भाषा को सुधारने में मदद मिलती है। 

6. योजना पर टिके रहें: योजना कागज पर बनाएं और इसे ऐसी जगह चिपका दें जिसे आप  हमेशा देख सकें। योजना ऐसी होनी चाहिए कि आप यूपीएससी 202ृ पाठ्यक्रम के किसी भी हिस्से को भूले न हों और उनमें से प्रत्येक पर अधिक ध्यान दें। 

7. रोज करें रिवीजन: अक्सर तैयारी के समय रिवीजन न करके अभ्यर्थी सबसे बड़ी गलती करते हैं। इसका कोई फायदा नहीं कि पूरी किताब पढ़ ली जाए किंतु उसे दोहराया न जाए। अगर सफलता प्राप्त करनी है तो पढ़ने के साथ-साथ समय से रिवीजन करते रहिए। इससे पढ़ा हुआ लंबे समय तक याद रहेगा और अंक बेहतर मिलेंगे।
अगर आपको हमारा ये video पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share करें, और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल है, तो उसे Comment में लिखकर हमें बताएँ। जल्द ही आपसे फिर मुलाकात होगी एक नए topic पर, एक नए video के साथ।

देखते रहिए, 
Prabhat Exams
नमस्कार!

Connect Us:  Youtube   Twitter   Telegram     Facebook     Instagram     Whatsapp 

You Can Buy Our Books online or call us- Whatsapp

👉 UPSC Books : https://amz.run/5Qxh

👉 GENERAL KNOWLEDGE Books : https://amz.run/5Qz2

👉 OTHER GOVERNMENT EXAMS : https://amz.run/5Qz

👉 IIT JEE & NEET AND ALL OTHER ENGINEERING & MEDICAL ENTRANCES : https://amz.run/5Qz6

👉 SSC Examination Books : https://amz.run/5Qz7

👉 DSSB Books : https://amz.run/5Qz9

👉 BANKING/INSURANCE EXAMS : https://amz.run/5QzC

👉 RRB, RRC, RPF/RPSF, NTPC & LEVEL-1 : https://amz.run/5QzF

👉 UGC BOOKS : https://amz.run/5QzH

👉 NVS BOOKS : https://amz.run/5QzJ

👉 BIHAR BOOKS : https://amz.run/5QzK

👉 *Rajasthan Books : https://amz.run/5QzP

👉 MADHYA PRADESH : https://amz.run/5QzR

👉 UTTAR PRADESH  :https://amz.run/5RAa


UPSC In News : What is BIMSTEC? || भारत के लिए बिम्सटेक का महत्व || Prabhat Exam

क्या है बिम्सटेक? || भारत के लिए बिम्सटेक का महत्व

नमस्कार, स्वागत है आपका Prabhat Exam के Youtube Channel पर। ये एक ऐसाPlatform है, जहां आपको मिलती हैं सभी Competitive exams से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां, जो आपकी किसी भी exam में सफल में होने में काफी मदद कर सकती हैं। अगर आप हमारे YouTube Channel पर पहली बार आए हैं, तो हमें Like और Subscribe ज़रूर करें और हमारे latest videos और updates सबसे पहले आप तक पहुँचें इसके लिए Bell icon को press करना ना भूलें। तो आइए शुरूआत करते हैं आज के video की, जो है – 

बिम्सटेक  और भारत के लिए बिम्सटेक का महत्व


  • बंगाल की खाड़ी बहु-क्षेत्रीय तकनीकी और आर्थिक सहयोग पहल अर्थात ‘बिम्सटेक’ (Bay of Bengal Multi-Sectoral Technical and Economic Cooperation – BIMSTEC) इस वर्ष अपनी स्थापना के 25 वर्ष पूरे कर रहा है।
  • ध्यातव्य है कि इसका गठन जून 1997 में बैंकॉक में शुरू हुआ था।
  • ‘बिम्सटेक’ का पांचवां शिखर सम्मेलन  30 मार्च को कोलंबो में आयोजित होगा।

क्या है बिम्सटेक (BIMSTEC) ?

  • बिम्सटेक (BIMSTEC), दक्षिण एशिया और दक्षिण पूर्व एशिया के सात देशों का एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है
  • वर्ष 1997 में, बंगाल की खाड़ी क्षेत्र को एकीकृत करने के प्रयास में इस समूह की स्थापना की गई थी।
  • मूल रूप से इस समूह में बांग्लादेश, भारत, श्रीलंका और थाईलैंड शामिल थे, बाद में म्यांमार, नेपाल और भूटान भी इसके सदस्य बन गए।  
  • बिम्सटेक में, अब दक्षिण एशिया के पांच देश और आसियान के दो देश शामिल हैं तथा यह दक्षिण एशिया और दक्षिण पूर्व एशिया के मध्य एक सेतु की भूमिका भी निभाता है।
  • इस समूह में मालदीव, अफगानिस्तान और पाकिस्तान को छोड़कर दक्षिण एशिया के सभी प्रमुख देश शामिल हैं।

बिम्सटेक क्षेत्र का महत्व

  • बिम्सटेक के सात देशों और इसके आसपास में विश्व की कुल आबादी का लगभग पांचवा भाग (22%) निवास करता है, और इनका संयुक्त रूप से सकल घरेलू उत्पाद $ 2.7 ट्रिलियन के करीब है।
  • बंगाल की खाड़ी, प्राकृतिक संसाधनों से भरपूर है, जिसका अभी तक दोहन नहीं किया गया है।
  • विश्व में व्यापार की जाने वाली कुल सामग्री का लगभग एक-चौथाई भाग, प्रतिवर्ष बंगाल की खाड़ी से होकर गुजरता है।   

भारत के लिए बिम्सटेक का महत्व

  • इस क्षेत्र की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में  भारत के लिए यह क्षेत्र काफी महत्वपूर्ण है।
  • बिम्सटेक, न केवल दक्षिण और दक्षिण पूर्व एशिया के लोगों को जोड़ता है, बल्कि महान हिमालय और बंगाल की खाड़ी की पारिस्थितिकी को परस्पर संबद्ध करता है।
  • भारत के लिए, यह ‘नेबरहुड फर्स्ट‘ और ‘एक्ट ईस्ट‘ की प्रमुख विदेश नीति प्राथमिकताओं को कार्यान्वित करने के लिए एक प्राकृतिक मंच है।
  • भारत के लिए, बिम्सटेक से सम्बद्धता का एक प्रमुख कारण इस क्षेत्र की विशाल संभावनाएं हैं, जो दक्षिण और दक्षिण पूर्व एशिया के देशों के साथ महत्वपूर्ण संपर्क मार्ग खोलती हैं।
  • लगभग 300 मिलियन लोग या भारत की लगभग एक-चौथाई आबादी, बंगाल की खाड़ी से सटे चार तटीय राज्यों (आंध्र प्रदेश, उड़ीसा, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल) में निवास करती है।
  • रणनीतिक दृष्टिकोण से, बंगाल की खाड़ी, जोकि मलक्का जलडमरूमध्य के लिए एक कीप (funnel) की भांति है, लगातार प्रभावशाली होते जा रहे चीन के लिए हिंद महासागर तक अपनी पहुँच बनाए रखने के लिए, एक प्रमुख थिएटर के रूप में उभरा है। 
  • चूंकि चीन द्वारा हिंद महासागर में पनडुब्बियों तथा जहाजों की आवाजाही में बढ़ोत्तरी सहित बंगाल की खाड़ी क्षेत्र में प्रभुत्व जमाने वाली गतिविधियाँ की जा रही हैं, ऐसे में बिम्सटेक देशों के साथ अपने संबंधों को मजबूत करना भारत के हित में होगा।

अगर आपको हमारा ये video पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share करें, और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल है, तो उसे Comment में लिखकर हमें बताएँ। जल्द ही आपसे फिर मुलाकात होगी एक नए topic पर एक नए video के साथ।

देखते रहिए 

Prabhat Exams

नमस्कार


Connect Us:  Youtube   Twitter   Telegram     Facebook     Instagram     Whatsapp 

You Can Buy Our Books online or call us- Whatsapp

👉 UPSC Books : https://amz.run/5Qxh

👉 GENERAL KNOWLEDGE Books : https://amz.run/5Qz2

👉 OTHER GOVERNMENT EXAMS : https://amz.run/5Qz

👉 IIT JEE & NEET AND ALL OTHER ENGINEERING & MEDICAL ENTRANCES : https://amz.run/5Qz6

👉 SSC Examination Books : https://amz.run/5Qz7

👉 DSSB Books : https://amz.run/5Qz9

👉 BANKING/INSURANCE EXAMS : https://amz.run/5QzC

👉 RRB, RRC, RPF/RPSF, NTPC & LEVEL-1 : https://amz.run/5QzF

👉 UGC BOOKS : https://amz.run/5QzH

👉 NVS BOOKS : https://amz.run/5QzJ

👉 BIHAR BOOKS : https://amz.run/5QzK

👉 *Rajasthan Books : https://amz.run/5QzP

👉 MADHYA PRADESH : https://amz.run/5QzR

👉 UTTAR PRADESH  :https://amz.run/5RAa






Wednesday, March 30, 2022

इन 5 टिप्स से अपनी इंग्लिश Improve करें और IAS बनें || 5 Tips To Improve your English for Crack UPSC|| Prabhat Exam

इन 5 टिप्स से अपनी इंग्लिश Improve करें और IAS बनें

हेल्लो दोस्तों, हम सब इस बात से परिचित हैं कि अंग्रेजी आज कल के वैश्विक परिवेश में कितना अहम् है. आप किसी भी क्षेत्र में या किसी भी पेशे में काम क्यों न कर रहे हों, आपके सफलता के लिए अंग्रेजी अनिवार्य है. यूपीएससी सिविल सर्विसेस या आईएएस परीक्षा की तैयारी करने वाले आईएएस आकांक्षियों के लिए यह कथन कहीं अधिक सत्य है. हालांकि संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) उम्मीदवारों को आईएएस की मुख्य परीक्ष में अपने पसंद की भाषा और माध्यम चुनने की अनुमति देता है, लेकिन योग्यता प्रकृति वाला एक अंग्रेजी भाषा का अनिवार्य पेपर भी होता है. इसके अलावा, इंटरव्यू चरण में संचार के माध्यम के रूप में और आईएएस के लिए चुने जाने के बार अंतिम प्रशइक्षण के दौरान भी, अंग्रेजी पर अच्छी पकड़ अनिवार्य है.

लेकिन, अन्य महत्वपूर्ण चीजों के जैसे अंग्रेजी पर बेहतर पकड़ बनाना आसाम काम नहीं है. वास्तव में, कई लोगों ने कोशिश की और अपने बेहतरीन प्रयासों के बावजूद विफल रहे. आईएएस मेन परीक्षा के लिए अंग्रेजी में महारथ करने के लिए उनकी रणनीति की सबसे बड़ी समस्याओं में से एक है सीखने का औपचारिक शिक्षाप्रद शैली. हालांकि, जब बात अंग्रेजी की आती है, 

आईएएस परीक्षा के लिए अंग्रेजी सीखने के कई प्रैक्टिकल और मजेदार तरीके हैं. नीचे हम इनमें से कुछ पर चर्चा कर रहे हैं:-

       1. संपादकीय पढ़ें

  • जब बात आईएएस परीक्षा की तैयारी की हो तो किसी भी आईएएस आकांक्षी से पूछ कर देखें, वह आपको अखबार के संपादकीय पढ़ने के महत्व के बारे में बता देगा. महत्वपूर्ण जानकारी देने और राष्ट्रीय महत्व के कई मुद्दों पर स्पष्ट विचार प्रदान करने के अलावा अखबारों के संपादकीय का प्रयोग आपके अंग्रेजी में सुधार के लिए भी किया जा सकता है. अखबार में छपने वाले सभी संपादकीय स्थापित संपादकों और स्तंभकारों द्वारा लिखे होते हैं. इन स्थापित लेखकों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले शब्द, प्रारूप, शैली और भाषा न सिर्फ व्याकरण की दृष्टि से सही होते हैं बल्कि अंग्रेजी भाषा का सही इस्तेमाल करत हुए संदर्भ की समझ भी प्रदान करते हैं.

       2. अंग्रेजी में बातचीत करें

  • इंटरव्यू प्रक्रिया के दौरान आईएएस आकांक्षियों द्वारा जिन चुनौतियों का सामना किया जाता है उनमें सबसे आम है अंग्रेजी में बातचीत करने की कला. अंग्रेजी पढ़ने और लिखने में अच्छे आकांक्षी भी अंग्रेजी बोलने में परेशानी महसूस करते हैं. हजारों 'स्पोकन इंग्लिश' कोर्सेस और क्लासेस यह कहते सुनाइ देते हैं कि अंग्रेजी की औपचारिक शिक्षा के बावजूद बहुत कम ही ऐसे उम्मीदवार होते हैं जो बातचीत के लिए अंग्रेजी के वास्तिवक उपयोग में सक्षम हो पाते हैं. इंटरव्यू प्रक्रिया के दौरान, जहां पैनल भविष्य में भारत के शीर्ष नौकरशाह की तलाश करने बैठते हैं, यह आपके लिए बहुत बड़ी बाधा बन सकती है. इसलिए, आईएएस आकांक्षियों के लिए अंग्रेजी में बातचीत शुरु करना बहुत महत्वपूर्ण है. अपने शिक्षकों, सहयोगियों या यहां तक कि खुद से अकेले, कम– से– कम एक घंटा बातचीत करने के लिए कोई मुद्दा लें. अलग– अलग संदर्भों में अखबारों और पठन सामग्री में जिन कठिन शब्दों से आपका सामना हुआ है उनके इस्तेमाल की कोशिश करें. यदि आप इस प्रक्रिया का अच्छी तरह से पालन करेंगे, तो कुछ ही दिनों में आप अपने स्पोकन इंग्लिश (बोलचाल की अंग्रेजी) में काफी सुधार देखेंगे.

       3. अंग्रेजी सिनेमा, वृत्तचित्र और टीवी श्रृंखला देखें

  • जैसा कि हमने कहा है, तकनीकी विषयों के विपरीत एक भाषा सीखना कला है और स्थापित तरीकों के अलावा अंग्रेजी सीखने के कई और रास्ते भी हैं. आईएएस परीक्षाओं के लिए अंग्रेजी सीखने का एक ऐसा ही मजेदार और प्रैक्टिकल तरीका है टीवी. ऐसे में जब हम में से अधिकांश लोग टीवी को इडियट बॉक्स समझते हैं और आईएएस की तैयारी के दौरान अपने दिनचर्या से इसे पूरी तरह हटा देते हैं, जब बात अंग्रेजी सीखने की आती है तो यह आपका सबसे बड़ा सहयोगी बन सकता है. इसलिए, डिस्कवरी या नेट जीयो जैसे अंग्रेजी चैनल देखें, बीबीसी या सीएनबीसी जैसे अच्छे अंग्रेजी चैनलों पर खबरें देखें. आप इनसेप्शन या स्लम डॉग मिलियनेयर जैसी मनोरंजक फिल्में और गेम या थ्रोन्स या वॉल्किंग डीड जैसे टीवी धारावाहिक भी देख सकते हैं. टीवी/ अंग्रेजी फिल्में देखने के दौरान, सुनिश्चित करें कि आप उसके संवाद सुन रहे हैं, अपने दिमाग में कठिन शब्दों को रखें, एक विषय पर किस प्रकार वाक्य बनाना है, सीखें औऱ अलग– अलग संदर्भ में शब्दों के इस्तेमाल के बारे में जानें. यहां हम यह कहना चाहते हैं कि अपने टीवी को मनोरंजन के मंच से सीखने के संसाधन में बदल डालें. और यदि आप इसे सही तरीके से करेंगे तो आपको पता भी नहीं चलेगा और आप अंग्रेजी में धाराप्रवाह बोलने लग जाएंगे.

     4. अंग्रेजी में सोचें

  • अब और गंभीर मुद्दे पर आते हैं, अच्छी अंग्रेजी कैसे पढ़ें, लिखें और बोलें, यह सीखने के अलावा आईएएस परीक्षा के लिए अंग्रेजी सीखने में एक और महत्वपूर्ण पहलू शामिल है. यह अंग्रेजी में सोचने के बारे में है. हालांकि, आईएएस के कई आकांक्षी अंग्रेजी सीखने के पहले तीन पहलुओं को काफी आसानी से करना सीख जाते हैं लेकिन वे अंग्रेजी में सोचने में सक्षम नहीं होते. कई भाषा विशेषज्ञों ने यह देखा है कि आईएएस के कई आकांक्षी किसी विचार या वाक्य को अपने मन में अपनी क्षेत्रीय भाषा या हिन्दी में तैयार करते हैं और फिर उसका अंग्रेजी में अनुवाद करते हैं. इससे मस्तिष्क पर न सिर्फ अतिरिक्त प्रयास का बोझ बढ़ता है बल्कि अक्सर वे अंग्रेजी के गलत रूप का इस्तेमाल कर बैठते हैं. उदाहरण के लिए, यह कहने के किए कि आपने परीक्षा दी, एक आईएएस आकांक्षी अक्सर कहता है ' मैंने परीक्षा पेपर दिया' क्योंकि वे इसे हिन्दी से अनुवाद करते हैं यानि 'मैंने एग्जाम पेपर दिया'. इसके लिए सही वाक्य संरचना होगा– 'आई टुक द टेस्ट' और आप ऐसा वाक्य तभी बोल सकते हैं जब आप अंग्रेजी में सोचने में सक्षम हों.

     5. अपना शब्द– संग्रह बनाएं

  • किसी भी आईएएस आकांक्षी के लिए शब्द –संग्रह का महत्व छिपा नहीं है. हालांकि, आपको दिमाग में सिर्फ एक बात रखनी है कि आपको हर मौजूद कठिन शब्द को नहीं जानना है, आपको उन शब्दों पर फोकस करना है जो दैनिक जीवन में इस्तेमाल किए जाते हैं और नीतिगत फैसलों, सरकारी आदेशों और वर्तमान खबरों का हिस्सा होते हैं. इसलिए, इस दिशा में आगे बढ़ने का सबसे अच्छा तरीका होगा कि रोज जिन कठिन शब्दों से आपका सामना होता है, उन्हें एक जगह लिख लें. ये शब्द आपको अखबार पढ़ने के दौरान या किसी से बातचीत के दौरान मिल सकते हैं. एक दिन के समाप्त होने पर आपके पास कम– से– कम 10 से 15 शब्द होने चाहिए. इन शब्दों का आप अर्थ ढूंढ़ें और अपने दैनिक बातचीत में उन्हें शामिल करना शुरु कर दें. यदि आप इस प्रक्रिया का पालन करते हैं तो माह के आखिर तक आप करीब 300 नए शब्दों को जान जाएंगें जो आपके शब्द– संग्रह में सुधार की दिशा में अभूतपूर्व प्रगति होगी.

जैसा कि उपर बताया गया है, अंग्रेजी सीखना खासकर यूपीएससी सिविल सर्विसेस परीक्षा या आईएएस परीक्षा के लिए सीखना, एक दीर्घकालिक और कठिन लड़ाई लड़ने जैसा है. लेकिन, दूसरे दीर्घकालिक और कठिन लड़ाईयों के नतीजों जैसे ही इसके नतीजे बहुत अच्छे होते हैं. इसलिए, आज से ही इस प्रक्रिया के साथ शुरुआत करते हुए आईएएस मेन्स परीक्षा में सफलता की दिशा में अपना पहला कदम बढ़ाएं.

अगर आपको हमारा ये video पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share करें, और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल है, तो उसे Comment में लिखकर हमें बताएँ। जल्द ही आपसे फिर मुलाकात होगी एक नए topic पर, एक नए video के साथ।

देखते रहिए, 

Prabhat Exams

नमस्कार!


Connect Us:  Youtube   Twitter   Telegram     Facebook     Instagram     Whatsapp 

You Can Buy Our Books online or call us- Whatsapp

👉 UPSC Books : https://amz.run/5Qxh

👉 GENERAL KNOWLEDGE Books : https://amz.run/5Qz2

👉 OTHER GOVERNMENT EXAMS : https://amz.run/5Qz

👉 IIT JEE & NEET AND ALL OTHER ENGINEERING & MEDICAL ENTRANCES : https://amz.run/5Qz6

👉 SSC Examination Books : https://amz.run/5Qz7

👉 DSSB Books : https://amz.run/5Qz9

👉 BANKING/INSURANCE EXAMS : https://amz.run/5QzC

👉 RRB, RRC, RPF/RPSF, NTPC & LEVEL-1 : https://amz.run/5QzF

👉 UGC BOOKS : https://amz.run/5QzH

👉 NVS BOOKS : https://amz.run/5QzJ

👉 BIHAR BOOKS : https://amz.run/5QzK

👉 *Rajasthan Books : https://amz.run/5QzP

👉 MADHYA PRADESH : https://amz.run/5QzR

👉 UTTAR PRADESH  :https://amz.run/5RAa





WORLD AIR QUALITY विश्व वायु गुणवत्ता रिपोर्ट DAILY IN-NEWS || PRABHAT EXAM

WORLD AIR QUALITY विश्व वायु गुणवत्ता रिपोर्ट

नमस्कार, स्वागत है आपका Prabhat Exam के YouTube Channel पर। ये एक ऐसा Platform है, जहां आपको मिलती हैं सभी Competitive exams से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां, जो आपकी किसी भी exam में सफल होने में काफी मदद कर सकती हैं। अगर आप हमारे YouTube Channel पर पहली बार आए हैं, तो हमें Like और Subscribe ज़रूर करें और हमारे latest videos और updates सबसे पहले आप तक पहुँचें इसके लिए Bell icon को press करना न भूलें। तो आइए शुरुआत करते हैं आज के video की, जो है - 

न्यूज़ टॉपिक विश्व वायु गुणवत्ता रिपोर्ट 2022 


  • आज का न्यूज़ टॉपिक विश्व वायु गुणवत्ता रिपोर्ट 2022 हाल ही में विश्व वायु गुणवत्ता रिपोर्ट 2022 जारी की गई है इस रिपोर्ट ने 2022 में वैश्विक व्यवस्था की स्थिति का अवलोकन प्रस्तुत किया गया है 
  • फिक्स संगठन आई केयर द्वारा जारी की जाने वाली इस रिपोर्ट में पार्टिकुलेट मैटर 2.5 की सत्यता के आधार पर वायु गुणवत्ता के स्तर को मापा जाता है।
  • वर्ष 2022 में बांग्लादेश दुनिया का सबसे प्रदूषित देश था बांग्लादेश ने 2022 में विश्व स्वास्थ्य संगठन डब्ल्यूएचओ द्वारा अनुशंसित पांच माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर के अधिकतम अनु मैं स्तर के मुकाबले के अनुसार 21 में औसत पीएम 2.5 स्तर 76.90 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर दर्ज किया गया।
  • इससे पहले 2018 2019 और 2019 में भी बांग्लादेश दुनिया का सबसे प्रदूषित दोषी पाया गया था आंकड़ों से पता चला है कि दुनिया का एक भी देश 2022 में डब्ल्यूएचओ की वायु गुणवत्ता मानक को पूरा करने में कामयाब नहीं हुआ पूरे दुनिया में 93 शहरों में पीएम 2.5 को अनुशंसित स्तर का दस गुना अधिक पाया गया।
  •  वर्ष 2022 के दौरान शहरों में बांग्लादेश के ढाका विश्व का दूसरा सबसे प्रदूषित शहर रहा जिसमें पीएम 2.5 का स्तर 78.21 था वर्ष 2022 में भारत की राजधानी नई दिल्ली दुनिया के सबसे प्रदूषित शहर रही है।
  • जिसका पीएम 2.5 स्तर 50.1 था रिपोर्ट में भारत का प्रदर्शन नई दिल्ली लगातार चौथे वर्ष दुनिया का सबसे प्रदूषित राज शहर बना हुआ है
  •  रिपोर्ट के अनुसार 2022 में मध्य और दक्षिण एशिया के 15 सबसे प्रदूषित शहरों में से 11 शहर भारत में है 35 भारतीय शहरों को 2022 के लिए सबसे खराब वायु गुणवत्ता अटैक के तहत सूचना आयुक्त द्वारा सूचीबद्ध किया गया है
  • इस सूची में राजस्थान का भिवाड़ी शहर सबसे ऊपर है और उसके बाद गाजियाबाद उत्तर प्रदेश का भी स्थान है वायु प्रदूषण से जुड़ी चिंता है वायु प्रदूषण को अब दुनिया का सबसे बड़ा पर्यावरण व स्वास्थ्य खतरा माना जाता है
  • जिसे हर साल दुनिया भर में 70 लाख मौतों का कारण बनता है वायु प्रदूषण अस्थमा से लेकर कैंसर फेफड़ों की बीमारियों और हृदय रोग तक कई बीमारियों का कारण बनता है वायु प्रदूषण की अनुमानित दैनिक आर्थिक लागत आठ अरब डॉलर या सकल विश्व उत्पाद का तीन से चार प्रतिशत आंकी गई है
  • सरकारों द्वारा किए जाने वाले उपाय वायु प्रदूषण उत्सर्जन में कमी व्यक्तिगत और औद्योगिक तु आपके लिए स्वच्छ वायु वाहनों के उपयोग को प्रोत्साहित करने के लिए कानून का निर्णय अक्षय ऊर्जा स्रोतों में निवेश आंतरिक दहन इंजन ओं के उपयोग को सीमित करने के लिए वित्तीय प्रोत्साहन प्रदान किया जाना चाहिए
  • जैसे ट्रेडिंग कार्यक्रम बैटरी और मानव संचालित परिवहन विधियों के उपयोग को प्रोत्साहित करने के लिए सब्सिडी प्रदान करें स्वच्छ और नवीकरणीय ऊर्जा स्रोतों के लिए सार्वजनिक परिवहन और बिजली का विस्तार किया जाना चाहिए 

अगर आपको हमारा ये video पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share करें, और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल है, तो उसे Comment में लिखकर हमें बताएँ। जल्द ही आपसे फिर मुलाकात होगी एक नए topic पर, एक नए video के साथ।

देखते रहिए, 

Prabhat Exams

नमस्कार!

Connect Us: Youtube   Twitter   Telegram     Facebook     Instagram     Whatsapp

You Can Buy Our Books online or call us- 7827007777

👉 UPSC Books : https://amz.run/5Qxh

👉 GENERAL KNOWLEDGE Books : https://amz.run/5Qz2

👉 OTHER GOVERNMENT EXAMS : https://amz.run/5Qz

👉 IIT JEE & NEET AND ALL OTHER ENGINEERING & MEDICAL ENTRANCES : https://amz.run/5Qz6

👉 SSC Examination Books : https://amz.run/5Qz7

👉 DSSB Books : https://amz.run/5Qz9

👉 BANKING/INSURANCE EXAMS : https://amz.run/5QzC

👉 RRB, RRC, RPF/RPSF, NTPC & LEVEL-1 : https://amz.run/5QzF

👉 UGC BOOKS : https://amz.run/5QzH

👉 NVS BOOKS : https://amz.run/5QzJ

👉 BIHAR BOOKS : https://amz.run/5QzK

👉 *Rajasthan Books : https://amz.run/5QzP

👉 MADHYA PRADESH : https://amz.run/5QzR

👉 UTTAR PRADESH  :https://amz.run/5RAa

For more information you can call or whatsapp -7827007777







UPSC TOPPER : कौन हैं IAS टॉपर टीना डाबी के होने वाले पति || IAS प्रदीप गवांडे || PRABHAT EXAM

UPSC TOPPER : कौन हैं IAS टॉपर टीना डाबी के होने वाले पति

नमस्कार, स्वागत है आपका Prabhat Exam के YouTube Channel पर। ये एक ऐसा Platform है, जहां आपको मिलती हैं सभी Competitive exams से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां, जो आपकी किसी भी exam में सफल होने में काफी मदद कर सकती हैं। अगर आप हमारे YouTube Channel पर पहली बार आए हैं, तो हमें Like और Subscribe ज़रूर करें और हमारे latest videos और updates सबसे पहले आप तक पहुँचें इसके लिए Bell icon को press करना न भूलें। तो आइए शुरुआत करते हैं आज के video की, जो है - 

UPSC TOPPER : कौन हैं IAS टॉपर टीना डाबी के होने वाले पति

  •  यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2015 के टॉपर रहे टीना डाबी एक बार फिर से चर्चा में आ गई है वजह है उनकी दूसरी शादी इस बात की जानकारी टीना ने खुद अपने सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए दी
  •  आईएस टीना ने हम 2 साल के अंतराल में अपने रिलेशनशिप को लेकर बड़े फैसले लिए हैं साल 2016 में पहला प्यार फिर साल 2018 में शादी साल 2019 में तलाक और अब साल 2022 में दूसरी शादी करने जा रही है।
  • टीम ने मूल रूप से मध्य प्रदेश के रहने वाले हैं उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से पॉलीटिकल साइंस में ग्रेजुएशन किया है, टीना ने यहां पहला स्थान हासिल किया इसके बाद पहले प्रयास में उन्होंने यूपीएससी पास कर लिया इस परीक्षा में भी वह टॉप कर गईं ।
  •  28 वर्षीया टेस्टी नान प्लान राजस्थान में फाइनेंस डिपार्टमेंट में जॉइंट सेक्रेटरी है, उन्होंने अपनी जिंदगी का एक और बड़ा फैसला लिया है।
  •  वह प्रदीप पांडे के साथ शादी के बंधन में बंधने जा रही हैं आपको बता दें टीना डाबी के होने वाले दूसरे पति IAS ऑफिसर है, कहा जा रहा है कि दोनों 22 अप्रैल को जयपुर में शादी के बंधन में बंधने वाले हैं।
  • इस खबर को सुनते ही सभी जानना चाहते हैं कि आखिर कौन है टीना डाबी के दूसरे पति तो चलिए हम आपको बताते हैं आखिर कौन है।
  • डॉक्टर प्रदीप गवांडे करियर के लिहाज से डॉक्टर प्रदीप टीना से 2 साल सीनियर है दरअसल उन्होंने 2013 में सिविल सेवा परीक्षा पास की थी महाराष्ट्र के मूल निवासी प्रदीप जैन डॉ विजय है यूपीएससी परीक्षा को सफलता पूर्वक पास करने से पहले उन्होंने एमबीबीएस की डिग्री हासिल की थी प्रदीप ने नासिक के सरकारी मेडिकल कॉलेज से कंडीशन में एमबीबीएस किया है।
  • बांध उन्होंने यूपीएससी एक्जाम प्रेप कर लिया ट्रेनिंग के बाद पूरे राजस्थान कैडर मिला प्लान डॉ प्रदीप राजस्थान में पुरातत्व और संग्रहालय विभाग के डायरेक्टर है।
  •  इससे पहले वो राजस्थान में कि दूसरों के कलेक्टर भी रह चुके हैं मध्य प्रदेश में नौ दिसंबर 1979 को जन्मे डॉ प्रदीप पांडे तेरह साल बड़े हैं और 2019 के दौरान राजस्थान में जिला अधिकारी से 28 मार्च को घोषणा की थी
  • उन्होंने जयपुर में अपने आईएएस अधिकारी प्रदीप के साथ सगाई कर ली है फिलहाल दोनों में ही पोस्टेड है इससे पहले अप्रैल 2018 में IAS ऑफिसर पत्थर से शादी की थी।
  • कश्मीर के ने 2015 में दूसरा स्थान प्राप्त किया और दोनों ही राजस्थान के अधिकारी थे दोनों ने कश्मीर के पहलगाम में पूरे रिवाज के साथ शादी की थी शादी खूब चर्चा में रही लेकिन दो साल बाद ही उन्होंने दोनों के इस फैसले से लोगों को चौंका दिया यह दोनों एक दूसरे को लेकर कई पेश किया करते थे, लेकिन यहां से चल नहीं पाई और दोनों नहीं आपसी सहमति से तलाक ले लिया कहा जाता है।
  • दोनों की नज़दीकियां ट्रेनिंग के दौरान बड़ी लेकिन यह शादी दो साल से ज्यादा नहीं चल पाए और दोनों नहीं आपसी सहमति से तलाक ले लिया कहा जाता है, कि दोनों की नज़दीकियां ट्रेनिंग के दौरान बड़ी सी साथ इनके शादी भी काफी चर्चित रहे थे

अगर आपको हमारा ये video पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share करें, और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल है, तो उसे Comment में लिखकर हमें बताएँ। जल्द ही आपसे फिर मुलाकात होगी एक नए topic पर, एक नए video के साथ।

देखते रहिए, 

Prabhat Exams

नमस्कार!


Connect Us:  Youtube   Twitter   Telegram     Facebook     Instagram     Whatsapp 

You Can Buy Our Books online or call us- Whatsapp

👉 UPSC Books : https://amz.run/5Qxh

👉 GENERAL KNOWLEDGE Books : https://amz.run/5Qz2

👉 OTHER GOVERNMENT EXAMS : https://amz.run/5Qz

👉 IIT JEE & NEET AND ALL OTHER ENGINEERING & MEDICAL ENTRANCES : https://amz.run/5Qz6

👉 SSC Examination Books : https://amz.run/5Qz7

👉 DSSB Books : https://amz.run/5Qz9

👉 BANKING/INSURANCE EXAMS : https://amz.run/5QzC

👉 RRB, RRC, RPF/RPSF, NTPC & LEVEL-1 : https://amz.run/5QzF

👉 UGC BOOKS : https://amz.run/5QzH

👉 NVS BOOKS : https://amz.run/5QzJ

👉 BIHAR BOOKS : https://amz.run/5QzK

👉 *Rajasthan Books : https://amz.run/5QzP

👉 MADHYA PRADESH : https://amz.run/5QzR

👉 UTTAR PRADESH  :https://amz.run/5RAa




Tuesday, March 29, 2022

क्या IAS Offcer अपनी Family को साथ में रख सकता है ? | IAS Officer & his family's || IAS lifestyle

Kya IAS Officer apni family ko sath mein rakh sakte hain?

दोस्तों, कई लोगों के मन में यह सवाल आता है कि एक आईएएस अधिकारी बनने के बाद क्या वे अपने परिवार को अपने साथ रख सकते हैं? इसको लेकर कई सारे rumors हैं जो स्टूडेंट्स को और अधिक कन्फ्यूज कर देते हैं। इसीलिए आज के वीडियो में हम आपके इस कन्फ़्यूजन को दूर करेंगे। 

नमस्कार, स्वागत है आपका Prabhat Exam के YouTube Channel पर। ये एक ऐसा Platform है, जहाँ आपको मिलती हैं सभी Competitive exams से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियाँ, जो आपकी किसी भी exam में सफल होने में काफी मदद कर सकती हैं। अगर आप हमारे YouTube Channel पर पहली बार आए हैं, तो हमें Like और Subscribe ज़रूर करें और हमारे latest videos और updates सबसे पहले आप तक पहुँचें इसके लिए Bell icon को press करना न भूलें। तो आइए शुरूआत करते हैं आज के video की, जो है - 

Kya IAS Officer apni family ko sath mein rakh sakte hain?

  • कई लोगों का मानना है कि आईएएस अधिकारी का जीवन बहुत ही चुनौतीपूर्ण होता है और इसीलिए उन्हें परिवार को अपने साथ रखने की इजाज़त नहीं दी जाती है। लेकिन हम आपको बताना चाहते हैं कि यह धारणा पूरी तरह से गलत है। 
  • एक आईएएस अधिकारी को ना सिर्फ अपने परिवार के साथ रहने की अनुमति होती है बल्कि उनके लिए घर और दूसरी सुविधाएँ भी सरकार की तरफ से प्रदान की जाती हैं। 
  • हाँ, ट्रेनिंग के दौरान परिवार को साथ रखने की अनुमति नहीं है। लबासना में ट्रेनिंग के लिए जो हॉस्टल बने हैं उनमे सिर्फ trainees को रहने की permission होती है। हालांकि guests के लिए अलग हॉस्टल की व्यवस्था है जहाँ trainees के परिवार वाले आकर रह सकते हैं। लेकिन यह व्यवस्था temporary यानी कुछ दिनों के लिए ही होती है। 
  • ट्रेनिंग के दौरान परिवार को साथ रखना तो दूर, परिवार से मिलने के लिए छुट्टी भी नहीं दी जाती है। 3 महीने की foundation ट्रेनिंग और 2 महीने के भारत दर्शन के दौरान आपको किसी भी सूरत में छुट्टी नहीं मिलती, यहाँ तक की शादी करने के लिए भी नहीं, हालाँकि emergency situations में छुट्टी consider की जा सकती है। जब भारत दर्शन पूरा हो जाता है तब 10 दिन की छुट्टी में trainees अपने घर जाकर परिवार से मिल सकते हैं। इसके बाद 3 महीने की professional ट्रेनिंग के दौरान भी कोई छुट्टी नहीं मिलती है और न ही परिवार को साथ में रखने के लिए कोई accommodation दिया जाता है। 
  • इस ट्रेनिंग के बाद जब cadre का आवंटन हो जाता है तब trainees को कुछ दिनों की छुट्टी दी जाती है। इसके बाद जब वे अधिकारी के रूप में अपने state में रिपोर्ट करते हैं तब उन्हें परिवार को साथ में रखने की अनुमति मिल जाती है। 
  • इसके बाद ऑफिसर और उसके परिवार की सुविधा का पूरा ख्याल रखा जाता है। उन्हें रहने के लिए घर मिलता है, गाड़ी मिलती है और कई नौकर-चाकर भी मिलते हैं। अगर husband और वाइफ़ दोनों काम करते है और किसी कारणवश उनकी पोस्टिंग अलग-अलग शहरों में हो गयी है तो spouse ग्राउंड पर ट्रांसफर का भी प्रावधान है। 

अगर आपको हमारा ये video पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share करें, और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल है, तो उसे Comment में लिखकर हमें बताएँ। जल्द ही आपसे फिर मुलाकात होगी एक नए topic पर, एक नए video के साथ।

देखते रहिए, 

Prabhat Exams

नमस्कार !

Connect Us:  Youtube   Twitter   Telegram     Facebook     Instagram     Whatsapp 

You Can Buy Our Books online or call us- Whatsapp

👉 UPSC Books : https://amz.run/5Qxh

👉 GENERAL KNOWLEDGE Books : https://amz.run/5Qz2

👉 OTHER GOVERNMENT EXAMS : https://amz.run/5Qz

👉 IIT JEE & NEET AND ALL OTHER ENGINEERING & MEDICAL ENTRANCES : https://amz.run/5Qz6

👉 SSC Examination Books : https://amz.run/5Qz7

👉 DSSB Books : https://amz.run/5Qz9

👉 BANKING/INSURANCE EXAMS : https://amz.run/5QzC

👉 RRB, RRC, RPF/RPSF, NTPC & LEVEL-1 : https://amz.run/5QzF

👉 UGC BOOKS : https://amz.run/5QzH

👉 NVS BOOKS : https://amz.run/5QzJ

👉 BIHAR BOOKS : https://amz.run/5QzK

👉 *Rajasthan Books : https://amz.run/5QzP

👉 MADHYA PRADESH : https://amz.run/5QzR

👉 UTTAR PRADESH  :https://amz.run/5RAa



IAS बनने की दौड़ हिंदी मीडियम vs. अंग्रेजी मीडियम || Challenges & Solutions for Hindi Medium in upsc|| Prabhat Exam

HOW TO CHOOSE HINDI & ENGLISH MEDIUM IN UPSC 

संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिये अभ्यर्थियों को इसके प्रत्येक चरण के लिये अलग-अलग रणनीति बनानी पड़ती है। साथ ही, उन्हें एक व्यापक रणनीति ऐसी भी बनानी होती है जो इन सारी रणनीतियों के बीच समुचित समन्वय स्थापित कर सके। भाषा का चयन भी ऐसी ही व्यापक रणनीति का हिस्सा है। आजकल अभ्यर्थियों के मन  में यह दुविधा हमेशा बनी रहती है कि आखिर वे अपनी भाषा का चयन किन कसौटियों के आधार पर करें। दूर से देखने पर यह भले ही कोई मामूली बात नज़र आती हो, लेकिन सीरियस candidates के लिए यह बहुत ही महत्वपूर्ण पहलू होता है। तो आखिर किन parameters पर हमें अपने माध्यम या मीडियम का चुनाव करना चाहिए, आइए जानते हैं आज के वीडियो में। 

नमस्कार, स्वागत है आपका Prabhat Exam के Youtube Channel पर। ये एक ऐसा Platform है, जहां आपको मिलती हैं सभी Competitive exams से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां, जो आपकी किसी भी exam में सफल होने में काफी मदद कर सकती हैं। अगर आप हमारे YouTube Channel पर पहली बार आए हैं, तो हमें Like और Subscribe ज़रूर करें और हमारे latest videos और updates सबसे पहले आप तक पहुँचें इसके लिए Bell icon को press करना ना भूलें। तो आइए शुरुआत करते हैं आज के video की, जो है – 

HOW TO CHOOSE HINDI & ENGLISH MEDIUM IN UPSC 

  • यूपीएससी में मीडियम ऑफ examination के विषय पर हम दो बातें अक्सर सुनते हैं। पहला, यूपीएससी में सिलैक्ट होने वाले अधिकांश स्टूडेंट्स इंग्लिश मीडियम में exam देते हैं और दूसरा, यूपीएससी हिन्दी और इंग्लिश के स्टूडेंट्स में भेदभाव करती है। दोस्तो, पहली बात तो बिलकुल सच है, लेकिन दूसरी बात का कोई आधार नहीं मिलता है। 
  • यह सच है कि इंग्लिश मीडियम से सिलैक्ट होने वाले स्टूडेंट्स की संख्या बहुत ज्यादा है, लेकिन इसका कारण यह नहीं है यूपीएससी किसी तरह का भेदभाव करती है। दरअसल हमारा फॉर्मल एजुकेशन सिस्टम कुछ ऐसा बन गया है जिसमें इंग्लिश ने एक अनिवार्य भाषा का रूप ले लिया है और इस मीडियम में exam देने वाले students भी हिन्दी के मुक़ाबले में काफी अधिक हैं। अब लगभग हर स्टूडेंट कम-से-कम दसवीं तक तो इंग्लिश की पढ़ाई करता ही है। 
  • इसके अलावा दुनिया जिस तेजी से बदल रही है, उसमें इंग्लिश की पहुँच पूरी दुनिया में किसी और भाषा के मुक़ाबले ज्यादा तेजी से हो रही है। लेकिन एक सच यह भी है कि देश में हिन्दी का प्रसार भी काफी तेजी से हो रहा है और कई स्टूडेंट्स इस भाषा में खुद को ज्यादा comfortable महसूस करते हैं। वे हिन्दी में परीक्षा देते हैं और इसमें सफलता भी अर्जित करते हैं। अब सवाल यह उठता है कि आप अपनी मीडियम का selection किस आधार पर करें जिससे आपके सिलैक्ट होने के chances बढ़ जाएँ। 
  • यदि आपकी इंग्लिश हिन्दी से ज्यादा अच्छी हो तो इस सिचुएशन में आपको कुछ भी सोचे बिना इंग्लिश मीडियम में परीक्षा देनी चाहिए, क्योंकि कॉमन सेंस भी यही कहता है कि आप हिन्दी में यह परीक्षा पास तो नहीं कर पाएंगे। 
  • यदि आपकी इंग्लिश और हिन्दी दोनों समान रूप से अच्छी हो, यानि आप दोनों में equally comfortable हों, आपको तब भी इंग्लिश भाषा में ही परीक्षा देनी चाहिए क्योंकि इंग्लिश में थोड़ा advantage तो है, यही नहीं यदि आपकी इंग्लिश हिन्दी की तुलना में थोड़ी ही खराब है तो भी आपको इंग्लिश मीडियम से ही परीक्षा देनी चाहिए। 
  • दोस्तो, इंग्लिश मीडियम में सिलैक्ट होने के chances हमेशा ज्यादा होते हैं, इसमें कोई दोराय नहीं है और यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी में आपको कई subjects इंग्लिश में ही पढ़ने पड़ेंगे। ऐसे में यदि आपकी परीक्षा का मीडियम इंग्लिश होगा तो आपको अलग से हिन्दी विषय पर मेहनत नहीं करनी पड़ेगी। लेकिन यह बात सिर्फ उन्हीं लोगों पर लागू होती है जिनकी इंग्लिश और हिन्दी या तो समान रूप से अच्छी है या उनमे 19-20 का ही फर्क है। 
  • यदि आपकी इंग्लिश खराब है तो आपके पास कोई ऑप्शन बचता ही नहीं है, आपको हिन्दी में ही परीक्षा देनी पड़ेगी। दिक्कत तब होती है जब आपकी इंग्लिश और हिन्दी दोनों ही खराब हों, ऐसी स्थिति में आपको हिन्दी का ही चयन करना चाहिए, क्योंकि उसमें आप ज्यादा सहज रहेंगे और अपनी बात को बेहतर ढंग से सामने रख सकेंगे। 
  • अपनी भाषा में सुधार लाने के लिए हर दिन कम-से-कम 5 नए शब्द अपनी vocabulary में जोड़िए। भाषा को सुधारने के लिए व्याकरण पर भी थोड़ा ध्यान दीजिये। लेकिन यह सब करने के लिए आपको अलग से किताब लेकर बैठने की जरूरत नहीं है। बस आप जो भी पढ़ रहे हैं उससे ही समझने की कोशिश कीजिये। परीक्षा में जहां तक संभव हो, तत्सम शब्दों का प्रयोग कीजिये क्योंकि उनका प्रभाव ज्यादा होता है। 

अगर आपको हमारा ये video पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share करें, और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल है, तो उसे Comment में लिखकर हमें बताएँ। जल्द ही आपसे फिर मुलाकात होगी एक नए topic पर एक नए video के साथ। 

देखते रहिए 

Prabhat Exams

नमस्कार

Connect Us:  Youtube   Twitter   Telegram     Facebook     Instagram     Whatsapp 

You Can Buy Our Books online or call us- Whatsapp

👉 UPSC Books : https://amz.run/5Qxh

👉 GENERAL KNOWLEDGE Books : https://amz.run/5Qz2

👉 OTHER GOVERNMENT EXAMS : https://amz.run/5Qz

👉 IIT JEE & NEET AND ALL OTHER ENGINEERING & MEDICAL ENTRANCES : https://amz.run/5Qz6

👉 SSC Examination Books : https://amz.run/5Qz7

👉 DSSB Books : https://amz.run/5Qz9

👉 BANKING/INSURANCE EXAMS : https://amz.run/5QzC

👉 RRB, RRC, RPF/RPSF, NTPC & LEVEL-1 : https://amz.run/5QzF

👉 UGC BOOKS : https://amz.run/5QzH

👉 NVS BOOKS : https://amz.run/5QzJ

👉 BIHAR BOOKS : https://amz.run/5QzK

👉 *Rajasthan Books : https://amz.run/5QzP

👉 MADHYA PRADESH : https://amz.run/5QzR

👉 UTTAR PRADESH  :https://amz.run/5RAa


MEDITATION के सहारे कैसे करें UPSC Top | How To Crack UPSC With the help of Meditation | PrabhatExam

MEDITATION के सहारे कैसे करें UPSC Top

Meditation एक ऐसा रास्ता है, जिसके जरिए आप अपनी तनावपूर्ण जिंदगी से बाहर आ सकते हैं और अपनी जीवनशैली को और अच्छा कर सकते हैं। यूपीएससी की तैयारी के दौरान भी ऐसे कई क्षण आते हैं जब नकारात्मक विचार मन को घेरने लगते हैं और ऐसा लगता है कि कुछ भी कर लो पर सफलता मिलने वाली नहीं है। ऐसे ही मुश्किल समय में meditation आपके दिमाग को शांत कर आगे की राह दिखा सकता है। कैसे? आइए जानते हैं आज के वीडियो में। 

नमस्कार, स्वागत है आपका Prabhat Exam के YouTube Channel पर। ये एक ऐसा Platform है, जहां आपको मिलती हैं सभी Competitive exams से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां, जो आपकी किसी भी exam में सफल होने में काफी मदद कर सकती हैं। अगर आप हमारे YouTube Channel पर पहली बार आए हैं, तो हमें Like और Subscribe ज़रूर करें और हमारे latest videos और updates सबसे पहले आप तक पहुँचें इसके लिए Bell icon को press करना न भूलें। तो आइए शुरुआत करते हैं आज के video की, जो है –

 MEDITATION के सहारे कैसे करें UPSC Top

यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी कर रहे परीक्षार्थियों को फिजिकल के साथ ही मेंटल हेल्थ का भी ध्यान रखकर प्रिपरेशन करनी चाहिए। खुद को निगेटिव विचारों से दूर रखें और सोच पॉजिटिव रखें। निगेटिव विचारों से डिप्रेशन में जाने के चांसेस बढ़ जाते हैं और इससे परीक्षा की तैयारी पर भी असर पड़ता है। पॉजिटिव अप्रोच से ही अभ्यर्थी डिप्रेशन में जाने से बच सकता है, इसके लिए जरूरी है कि तैयारी के दौरान परीक्षार्थी का मूड फ्रेश रहे। 

Meditation के लाभ – 

  • दिमाग को शांत रखने में सहायक – meditation या ध्यान आपके दिमाग को शांत रखने में मदद करता है। यूपीएससी जैसी परीक्षा की तैयारी के लिए दिमाग का शांत और composed होना सबसे जरूरी है क्योंकि अशांत दिमाग में information स्टोर कर पाना बेहद मुश्किल होता है। 
  • अधिक ऊर्जा - यह आपको आलस्य से दूर और पूरे दिन अधिक ऊर्जावान रखता है। IAS की तैयारी के लिए कड़ी मेहनत की आवश्यकता होती है और ऐसा करने के लिए बहुत अधिक ऊर्जा की आवश्यकता होती है। ध्यान की मदद से आप न सिर्फ अपने शरीर और दिमाग को अधिक ऊर्जावान रख सकते हैं बल्कि कई बार यही ऊर्जा आपको extra effort लगाने के लिए भी प्रेरित करती है। 
  • आत्मविश्वास और सकारात्मक रहने में मदद – अंत में, जब आपके सभी काम समय से आपकी अपेक्षा अनुसार पूरे होने लगते हैं तब आपके अंदर आत्मविश्वास भी जाग्रत होता है और आप अपनी क्षमता से अधिक प्रयास करने के लिए भी प्रेरित होते हैं। इसका सबसे बड़ा असर परीक्षा भवन में दिखता है जहां दिमाग शांत रहना, आत्मविश्वास होना और सकारात्मक दृष्टिकोण रखना बहुत आवश्यक है। 

Meditation के प्रकार – 

  • माइंडफुल Meditation - माइंडफुल Meditation व्यक्ति को वर्तमान में जागरूक और हर जगह उपस्थित रहने में मदद करता है। इसके अभ्यास से व्यक्ति अपने आपको सचेत और सर्तक बना सकता है। इसके अभ्यास की बात करें तो, इसे करने के दौरान आप अपने आस-पास हो रही गतिविधियों पर ध्यान केंद्रित करते हैं जिससे आप अपने मन और दिमाग को एक जगह शांत रखना सीखते हैं।
  • ज़ेन Meditation - ज़ेन Meditation को बौद्ध परंपरा का हिस्सा माना जाता है। इसका अभ्यास अगर आप गुरुकुल या फिर किसी प्रोफेशनल ट्रेनी से लेंगे तो इसे अच्छे से सीख पाएंगे। इसमें कुछ आसान स्टेप्स होते हैं तो कुछ विशेष, जिनको करने से आपका दिमाग शांत होता है और आपकी सोचने की क्षमता बढ़ जाती है। इसको करने से आपकी बॉडी और दिमाग दोनों रिलैक्स पोजीशन में चले जाते हैं।
  • कुंडलिनी ध्यान - कुंडलिनी योग एक ऐसा ध्यान का आधार है, जिसके जरिए आप शारीरिक रूप से सक्रिय हो सकते हैं। इसमें मंत्रों का उच्चारण करने, गहरी सांस लेने और कई मूवमेंट्स शामिल होते हैं। इसके लिए आमतौर पर लोग योग की क्लास लेते हैं ताकि वो मंत्रों और उन मूवमेंट्स को जान सकें जिनसे उन्हें इस अभ्यास में कोई दिक्कत न हो। हालांकि इसके मंत्रों और तरीके को सीखने के बाद आप इसे घर पर भी बड़ी आसानी से कर सकते हैं।
  • एक्सरसाइज और मेडिटेशन पर ध्यान देते हुए परीक्षार्थी खुद को फिट रख सकते हैं। मानसिक शांति से वे मोटिवेटेड रहेंगे और बेहतर तरीके से परीक्षा की तैयारी पर फोकस कर पाएंगे।

अगर आपको हमारा ये video पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share करें, और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल है, तो उसे Comment में लिखकर हमें बताएँ। जल्द ही आपसे फिर मुलाकात होगी एक नए topic पर, एक नए video के साथ।

देखते रहिए, 

Prabhat Exams

नमस्कार!

You Can Buy Our Books online or call us- Whatsapp

👉 UPSC Books : https://amz.run/5Qxh

👉 GENERAL KNOWLEDGE Books : https://amz.run/5Qz2

👉 OTHER GOVERNMENT EXAMS : https://amz.run/5Qz

👉 IIT JEE & NEET AND ALL OTHER ENGINEERING & MEDICAL ENTRANCES : https://amz.run/5Qz6

👉 SSC Examination Books : https://amz.run/5Qz7

👉 DSSB Books : https://amz.run/5Qz9

👉 BANKING/INSURANCE EXAMS : https://amz.run/5QzC

👉 RRB, RRC, RPF/RPSF, NTPC & LEVEL-1 : https://amz.run/5QzF

👉 UGC BOOKS : https://amz.run/5QzH

👉 NVS BOOKS : https://amz.run/5QzJ

👉 BIHAR BOOKS : https://amz.run/5QzK

👉 *Rajasthan Books : https://amz.run/5QzP

👉 MADHYA PRADESH : https://amz.run/5QzR

👉 UTTAR PRADESH  :https://amz.run/5RAa



Monday, March 28, 2022

UPSC : Success Story IAS Officer Varun Baranwal ||UPSC EXAM || Prabhat Exam

Success Story IAS Officer Varun Baranwal

हर सफलता के पीछे संघर्ष की एक कहानी होती है, किस्मत भी हमेशा उसी का साथ देती है जो चुनौतियों से संघर्ष करने की हिम्मत रखता है। IAS अधिकारी वरुण बरनवाल की कहानी उन सभी लोगों के लिए प्रेरणा है जो संसाधनों और सुविधाओं की कमी का हवाला देकर अपने लक्ष्य को अधूरा ही छोड़ देते हैं। महाराष्ट्र ते ठाणे के बोइसार इलाके के रहने वाले वरुण ने साल 2013 में सिविल सेवा की परीक्षा में 32वीं रैक हासिल की थी। वरुण की जिंदगी में जब भी कोई परेशानी आई तो उन्होंने हार नहीं मानी बल्कि उसका मुकाबला डट कर किया। जिसका परिणाम यह हुआ कि हर समस्या का समाधान मिलता चला गया और आज वह अधिकारी पद पर तैनात हैं।

नमस्कार, स्वागत है आपका Prabhat Exam के YouTube Channel पर। ये एक ऐसा Platform है, जहां आपको मिलती हैं सभी Competitive exams से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां, जो आपकी किसी भी exam में सफल होने में काफी मदद कर सकती हैं। अगर आप हमारे YouTube Channel पर पहली बार आए हैं, तो हमें Like और Subscribe ज़रूर करें और हमारे latest videos और updates सबसे पहले आप तक पहुँचें इसके लिए Bell icon को press करना न भूलें। तो आइए शुरुआत करते हैं आज के video की, जो है - 

सफलता की कहानी वरुण बरनवाल

  • वरुण बरनवाल की जिंदगी में पहली चुनौती उनकी 10वीं की परीक्षा खत्म होने के तीन दिनों के बाद आई थी, जब पिता का देहांत हो गया था। वरुण के पिता एक साइकिल रिपेयर की दुकान चलाते थे। परिवार की आर्थिक स्थिति कुछ खास नहीं थी, थोड़ी बहुत जो जमा पूंजी थी वह पिता के इलाज में खत्म हो गई थी। 
  • ऐसे में तय हुआ कि घर चलाने के लिए दुकान को जारी रखा जाएगा, लेकिन इसी के साथ यह प्रश्न भी आ गया कि दुकान पर बैठेगा कौन। एक इंटरव्यू में वरुण ने बताया था कि मैंने तय कर लिया था वह पिता की दुकान पर बैठेंगे और अपने परिवार का ख्याल रखेंगे। इसी दौरान उनकी 10वीं के रिजल्ट आ गए, जहां उन्होंने टॉप किया था।
  • वरुण ने बताया टॉप के बाद मां ने पढ़ाई जारी रखने के लिए कहा और खुद दुकान की जिम्मेदारी संभाल ली, लेकिन परेशानी अभी भी खत्म नहीं हुई थी। जब वह 11वीं में दाखिला लेने के लिए गए तो उन्हें पता चला कि एडमिशन के लिए भारी रकम की जरूरत है, जोकि उनके पास नहीं है। वह निराशा में कुछ औऱ सोचते कि उसी वक्त उनकी दुकान के सामने से वह डॉक्टर गुजरे जो पिता का इलाज कर रहे थे। बातों-बातों में जब उन्हें पता चला कि स्कूल की फीस भरने के लिए पैसे नहीं हैं तो उन्होंने तुरंत 10 हजार रुपये पढ़ाई के लिए दी.
  • वरुण ने इंटरव्यू में बताया कि उनकी जिंदगी में 11वीं और 12वीं की पढ़ाई का समय सबसे कठिन रहा। क्योंकि इन दिनों वह सुबह स्कूल जाते थे। स्कूल से आने के बाद ट्यूशन पढ़ाते थे, फिर रात में दुकान का हिसाब देखने के बाद सोते थे। इस दौरान स्कूल की फीस देना भी मुश्किल हुआ करता था। वह बताते हैं कि स्कूल के टीचरों ने अपनी सैलेरी का कुछ हिस्सा देते हुए उनकी दो साल की फीस भर दी थी। वरुण जब 11वीं की पढ़ाई कर रहे थे तो उनका साथ देने के लिए बहन भी ट्यूशन पढ़ाया करती थीं।
  • वरुण डॉक्टर बनना चाहते थे लेकिन जब उन्हें पता चला कि इसके लिए बहुत पैसों की जरूरत होती है तो उन्होंने इंजीनिरिंग का रुख किया। एक पुश्तैनी जमीन बेचने के बाद पहले साल की फीस भरी गई, इसके बाद उन्होंने जब फर्स्ट इयर में टॉप किया तो उन्हें स्कॉलरशिप मिल गई। बीच-बीच में आती जरुरतों का ख्याल दोस्तों ने रखा और पढ़ाई पूरी हो गई। यहां पर उन्हें एक एमएनसी में नौकरी मिली। परिवार की इच्छा थी कि नौकरी की जाए लेकिन वरुण ने सिविल सेवा की तैयारी की इच्छा जताई और परिवार ने एक बार उनके फैसले का समर्थन किया।
  • जब वरुण प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए उतरे तो उनके सामने किताब खरीदने के पैसों की समस्या आ गई। तभी वरुण को एक एनजीओ का सहयोग मिला और किताबों की व्यवस्था हो गई। वरुण ने पूरी शक्ति से तैयारी की और सभी की मदद का मोल चुकाते हुए सिविल सेवा में सफलता अर्जित की। इन दिनों वह राजकोट में रिजनल कमिश्नर ऑफ म्युनिसिपालिटी के पद पर तैनात हैं।

अगर आपको हमारा ये video पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share करें, और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल है, तो उसे Comment में लिखकर हमें बताएँ। जल्द ही आपसे फिर मुलाकात होगी एक नए topic पर, एक नए video के साथ।

देखते रहिए, 

Prabhat Exams

नमस्कार!

Connect Us:  Youtube   Twitter   Telegram     Facebook     Instagram     Whatsapp 

You Can Buy Our Books online or call us- Whatsapp

👉 UPSC Books : https://amz.run/5Qxh

👉 GENERAL KNOWLEDGE Books : https://amz.run/5Qz2

👉 OTHER GOVERNMENT EXAMS : https://amz.run/5Qz

👉 IIT JEE & NEET AND ALL OTHER ENGINEERING & MEDICAL ENTRANCES : https://amz.run/5Qz6

👉 SSC Examination Books : https://amz.run/5Qz7

👉 DSSB Books : https://amz.run/5Qz9

👉 BANKING/INSURANCE EXAMS : https://amz.run/5QzC

👉 RRB, RRC, RPF/RPSF, NTPC & LEVEL-1 : https://amz.run/5QzF

👉 UGC BOOKS : https://amz.run/5QzH

👉 NVS BOOKS : https://amz.run/5QzJ

👉 BIHAR BOOKS : https://amz.run/5QzK

👉 *Rajasthan Books : https://amz.run/5QzP

👉 MADHYA PRADESH : https://amz.run/5QzR

👉 UTTAR PRADESH  :https://amz.run/5RAa