Friday, April 1, 2022

India’s First Female Doctor Anandibai Joshi Birth Anniversary || Biography || PRABHAT EXAM

कौन-थीं भारत की पहली महिला डॉक्टर? जानें कैसे करी पढ़ाई?कितने मिले पुरस्‍कार व सम्‍मान?

नमस्कार, स्वागत है आपका Prabhat Exam के Youtube Channel पर। ये एक ऐसा Platform है, जहां आपको मिलती हैं सभी Competitive exams से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां, जो आपकी किसी भी exam में सफल में होने में काफी मदद कर सकती हैं। अगर आप हमारे YouTube Channel पर पहली बार आए हैं, तो हमें Like और Subscribe ज़रूर करें और हमारे latest videos और updates सबसे पहले आप तक पहुँचें इसके लिए Bell icon को press करना ना भूलें। तो आइए शुरूआत करते हैं आज के video की, जो है - 

डॉ आनंदीबाई जोशी जी की जीवनी 

क्‍या आप कल्‍पना कर सकते हैं कि 18वीं शताब्‍दी में भारत की कोई महिला डॉक्‍टर बनकर इतिहास रचेगी। शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढकर ,विदेश से शिक्षा हासिल कर भारत की पहली डॉक्‍टर बनी इस महान महिला का नाम है डॉ आनंदीबाई जोशी।

  • डॉक्टर आनंदी जोशी का जन्‍म 31 मार्च सन् 1865 में पुणे शहर में हुआ था। ब्राह्मण परिवार में जन्मी आनंदी की शादी 9 साल की उम्र में 25 साल के गोपालराव जोशी से कर दी गई थी, 

  • 14 साल की उम्र में आनंदी मां बन चुकी थीं लेकिन 10 दिनों के भीतर ही उनके नवजात बच्चे की मौत हो गई

  • बच्चे को खोने के दर्द ने आनंदी को दुखी करने के साथ ही एक लक्ष्य भी दिया, उन्होंने ठान लिया कि वे एक दिन डॉक्टर बनकर रहेंगी। उनके इस संकल्प को पूरा करने में उनके पति ने भी उनकी पूरी मदद की।

  • 1880 में उनके पति द्वारा एक प्रसिद्ध अमेरिकी मिशनरी, रॉयल वाइल्डर से जानकारी मिलने पर वो अमेरिका चली गई और पेंसिल्वेनिया के महिला मेडिकल कॉलेज में चिकित्सा कार्यक्रम में एडिमशन लिया।
  • आनंदीबाई ने साल 1886 में 19 साल की उम्र में एमडी की डिग्री हासिल कर ली, वो एमडी की डिग्री पाने वाली भारत की पहली महिला डॉक्‍टर बनीं, 
  • उसी साल आनंदीबाई भारत लौट आईं, डॉक्टर बन कर देश लौटी आनंदी का भव्य स्वागत किया गया था।
  • बाद में उन्हें कोल्हापुर रियासत के अल्बर्ट एडवर्ड अस्पताल के महिला वार्ड में प्रभारी चिकित्सक की नियुक्ति मिली।

  • भारत की पहली महिला डॉक्टर बनकर कीर्तिमान रचने वाली आनंदीबाई अपनी डॉक्टरी की प्रैक्टिस शुरू करतीं उससे पहले ही वे टीबी की बीमारी का शिकार हो गईं। लगातार बीमार रहने के कारण 26 फरवरी 1887 में महज 22 साल की उम्र में आनंदीबाई चल बसीं।

  • ‘जोशी क्रेटर’ शुक्र ग्रह पर बना हुआ एक गड्ढा है, जो आनंदी गोपाल जोशी के नाम पर रखा गया है।

  • 31 मार्च 2018 को गूगल ने उनकी 153 वीं जयंती को चिह्नित करने के लिए उन्‍हें Google Doodle के साथ सम्मानित किया।


अगर आपको हमारा ये video पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share करें, और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल है, तो उसे Comment में लिखकर हमें बताएँ। जल्द ही आपसे फिर मुलाकात होगी एक नए topic पर एक नए video के साथ।

देखते रहिए 

Prabhat Exams

नमस्कार

Connect Us:  Youtube   Twitter   Telegram     Facebook     Instagram     Whatsapp 

You Can Buy Our Books online or call us- Whatsapp

👉 UPSC Books : https://amz.run/5Qxh

👉 GENERAL KNOWLEDGE Books : https://amz.run/5Qz2

👉 OTHER GOVERNMENT EXAMS : https://amz.run/5Qz

👉 IIT JEE & NEET AND ALL OTHER ENGINEERING & MEDICAL ENTRANCES : https://amz.run/5Qz6

👉 SSC Examination Books : https://amz.run/5Qz7

👉 DSSB Books : https://amz.run/5Qz9

👉 BANKING/INSURANCE EXAMS : https://amz.run/5QzC

👉 RRB, RRC, RPF/RPSF, NTPC & LEVEL-1 : https://amz.run/5QzF

👉 UGC BOOKS : https://amz.run/5QzH

👉 NVS BOOKS : https://amz.run/5QzJ

👉 BIHAR BOOKS : https://amz.run/5QzK

👉 *Rajasthan Books : https://amz.run/5QzP

👉 MADHYA PRADESH : https://amz.run/5QzR

👉 UTTAR PRADESH  :https://amz.run/5RAa





No comments:

Post a Comment