Wednesday, March 9, 2022

UPSC Top करने की कला (Full Interview Analysis) IAS Shubham Kumar || UPSC Air -1 || How to crack UPSC

Shubham Kumar ne batayi UPSC top karne ki kala(full interview analyze)

यूपीएससी रिजल्ट्स declare हों और बिहार का नाम न आए, यह नहीं हो सकता। हर साल यूपीएससी qualify करने वाले candidates में एक बड़ी संख्या बिहार राज्य से आती है। लेकिन सितंबर, 2021 में जब यूपीएससी ने 2020 के सिविल सेवा परीक्षा का अंतिम परिणाम घोषित किया तब पूरे बिहार में खुशी की लहर दौड़ गयी। बिहार का हर निवासी उस दिन गौरवान्वित महसूस कर रहा था और हो भी क्यों न, 19 साल बाद 2020 UPSC का topper बिहार से जो था। बिहार के छोटे से जिले कटिहार से आने वाले शुभम कुमार ने यूपीएससी में पहली rank हासिल कर सबको आश्चर्यचकित कर दिया था। आज के वीडियो में हम जानेंगे शुभम कुमार की ज़ुबानी उनकी सफलता के राज़ जानेंगे। 

नमस्कार, स्वागत है आपका Prabhat Exam के YouTube Channel पर। ये एक ऐसा Platform है, जहाँ आपको मिलती हैं सभी Competitive exams से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियाँ, जो आपकी किसी भी exam में सफल होने में काफी मदद कर सकती हैं। अगर आप हमारे YouTube Channel पर पहली बार आए हैं, तो हमें Like और Subscribe ज़रूर करें और हमारे latest videos और updates सबसे पहले आप तक पहुँचें इसके लिए Bell icon को press करना न भूलें। तो आइए शुरूआत करते हैं आज के video की, जो है –

Shubham Kumar ne batayi UPSC top karne ki kala



मूल रूप से कटिहार के रहने वाले शुभम कुमार ने अपनी प्रारंभिक पढ़ाई पूर्णिया के विद्या विहार आवासीय स्कूल से की। इसके बाद उन्होंने इंजीनियरिंग की सबसे कठिन माने जानी वाली परीक्षा आईआईटी को पास किया और उनका दाखिला आईआईटी बॉम्बे में हो गया। आमतौर पर आईआईटी जैसे संस्थानों से पढ़ने के बाद विद्यार्थी बड़ी और अच्छी नौकरियों की तरफ जाते हैं। लेकिन शुभम ने आईआईटी की पढ़ाई पूरी करने के बाद यूपीएससी करने की ठानी।

यूपीएससी की तैयारी करने के दौरान साल 2018 में उन्होंने अपना पहला प्रयास किया। लेकिन वो सफल नहीं हो पाए। इसके बाद 2019 में उन्होंने अपना दूसरा प्रयास किया और वे इंडियन डिफेंस अकाउंट सर्विस के लिए चुन लिए गए। इंडियन डिफेंस अकाउंट सर्विस में चुने जाने के बाद भी उन्होंने यूपीएससी की तैयारी करनी नहीं छोड़ी। 

शुभम बताते हैं कि यूपीएससी 2020 की तैयारी के लिए कोई कोचिंग नहीं ली। दिन में 7 से 8 घंटे पढ़ाई की। प्रीलिम्स क्लीयर करने के बाद उन्होंने 8 से 10 घंटे पढ़ाई करनी शुरू कर दी। इतना ही नहीं ट्रेनिंग के दौरान भी उन्होंने करीब 7-8 घंटे पढ़ाई की। साथ ही वे पिछले सालों के एग्जाम पेपर, मॉक टेस्ट की पेपर प्रैक्टिस भी किया करते थे। शुभम ने बताया कि उन्होंने मुख्य परीक्षा में एंथ्रोपोलॉजी को वैकल्पिक विषय के रूप में लिया क्योंकि यह स्कोरिंग के लिए अच्छा विषय है।

शुभम कहते हैं, हालाँकि कोविड -19 महामारी तनाव देने वाली तो थी लेकिन इस वजह से उनकी तैयारियाँ ज्यादा प्रभावित नहीं हुईं। शुभम ने इस दौरान बाहर की गतिविधियों के बजाय घर पर रहकर ही पढ़ाई पर फोकस किया। अपने इंटरव्यू के बारे में बात करते हुए वो बताते हैं कि इंटरव्यू के दौरान आपके व्यक्तित्व और विषय के ज्ञान की गहन जाँच होती है। उन्होंने कहा, "मुझसे ग्रामीण, कृषि क्षेत्र, सरकार की विभिन्न नीतियों को लेकर प्रश्न किए गए और आत्मविश्वास से भरे उत्तरों ने मुझे साक्षात्कार को पास करने में मदद की।" शुभम ने बताया था कि साल 2018 में यूपीएससी की तैयारी शुरू की। इस दौरान काफी उतार-चढ़ाव भी देखने को मिला। हालाँकि, उन्होंने फोकस बनाए रखा और जितना हो सकता था उतनी कोशिश अपनी तरफ से की।

शुभम ने यूपीएससी की तैयारी करने वाले उम्मीदवारों को consistent बने रहने, कड़ी मेहनत करने और धैर्य रखने की सलाह दी। शुभम के अनुसार, नियमित रूप से मेहनत ही सफलता की कुंजी है। अपनी तैयारी के बारे में उन्होंने कहा – “मेरा दो-तीन लेवल पर प्लान होता था। प्री से लेकर मेन की तैयारी को लेकर बड़े प्लान बनाए। इसके बाद मंथली प्लान बनाया और फिर डेली का प्लान था। मैंने सुबह 7-8 बजे से रात के 8-9 बजे तक पढ़ाई का प्लान बनाया था। इसमें बीच में ब्रेक भी होता था। हर सब्जेक्ट की पढ़ाई का अलग-अलग समय तय किया था। ऐसे ही प्लान बनाकर एवरेज हर दिन 7 से 8 घंटे की पढ़ाई की । प्री और मेंस के बीच यह समय बढ़कर 8 से 10 घंटे हो गया था।" उन्होंने आगे बताया कि यह बहुत जरूरी है कि आप जो कर रहे हैं, उसका खुद से मूल्यांकन भी करते रहें। आपने जो प्लान तैयार किए हैं, जिस टारगेट पर आप काम कर रहे हैं, उसे कितना अचीव कर पा रहे हैं। डेली का टास्क हो और उसे पूरा किया जाए। बड़े और मंथली, फिर डेली प्लान के टारगेट व अचीवमेंट के रिव्यू के साथ तैयारी करनी है।

शुभम कुमार की इस सफलता पर उन्हें बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद समेत कई लोगों ने बधाई दी। नीतीश कुमार ने ट्वीट करते हुए लिखा कि UPSC सिविल सेवा परीक्षा में प्रथम स्थान हासिल करने पर बिहार के शुभम कुमार को बधाई एवं शुभकामनाएँ। उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना है। बिहार के विकास आयुक्त आमिर सुबहानी ने भी पूर्व में प्रथम स्थान प्राप्त किया था।

अगर आपको हमारा ये video पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share करें, और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल है, तो उसे Comment में लिखकर हमें बताएँ। जल्द ही आपसे फिर मुलाकात होगी एक नए topic पर, एक नए video के साथ।

देखते रहिए,

Prabhat Exams

नमस्कार !

 Follow Us :   Youtube    Twitter     Telegram    Facebook    Instagram      Whatsapp


No comments:

Post a Comment