Wednesday, March 16, 2022

UPSC Success Story: IAS Siddharth Nahar | IAS Topper Inspiring Story || Prabhat Exam

आईएएस सिद्धार्थ नाहर की सफल कहानी

यूपीएससी परीक्षा का पाठ्यक्रम बहुत बड़ा होता है यह तो सब जानते हैं। इसमें कई विषय हाल ही के दिनों में चल रही बहस और मुद्दों से संबंधित हो सकते हैं। हाल के समय का मतलब एक वर्ष नहीं है, बल्कि यह एक से लेकर तीन साल तक की घटनाओं से संबंधित हो सकते हैं। उम्मीदवारों के मन में हमेशा यह सवाल रहता है कि इतना बड़ा घटनाक्रम कैसे cover करें? ऐसे विषयों से संबंधित डेटा का प्रामाणिक स्रोत क्या होना चाहिए? उन insights को कैसे प्रस्तुत करें? आइए जानते हैं आज के विडियो में। 
नमस्कार, स्वागत है आपका Prabhat Exam के Youtube Channel पर। ये एक ऐसा Platform है, जहां आपको मिलती हैं सभी Competitive exams से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां, जो आपकी किसी भी exam में सफल होने में काफी मदद कर सकती हैं। अगर आप हमारे YouTube Channel पर पहली बार आए हैं, तो हमें Like और Subscribe ज़रूर करें और हमारे latest videos और updates सबसे पहले आप तक पहुँचें इसके लिए Bell icon को press करना न भूलें। तो आइए शुरुआत करते हैं आज के video की, जो है –

आईएएस सिद्धार्थ नाहर की सफल कहानी


  • सिद्धार्थ जीवन में हमेशा कुछ अलग हटकर करने पर विश्वास सकते थे इसी वजह से उन्होंने पेट्रोलियम इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन करने के बाद 2 साल तक जी एसपीएस में बतौर प्रोक्योरमेंट फ्रेंड्स ऑफिस में काम किया। नौकरी के दौरान उन्हें श्री तपन रेसर के काम करने की शैली से बहुत प्रभाव हुआ।
  • कोचिंग के दौरान जीएसपीसी समूह के मैनेजिंग डायरेक्टर कंपनी में ऑनलाइन प्रोक्योरमेंट स्थापित करने के उनके दृष्टि करण ने बहुत जल्दी आकार ने दिया इससे उन्हें समझ में आया कि एक आईएएस अधिकारी छोटे से वक्त में कैसे असर और बदलाव लाने में सक्षम हो सकता है।
  • इस घटना ने उन्हें इस परीक्षा की तैयारी के लिए प्रेरित किया जब वह इस परीक्षा की तैयारी कर रहे थे यानी साल 2014 से लेकर साथ 2018 तक तैयारी की शरण में उसके लिए पैसा जुटाने के लिए उन्हें छोटा सा ऑनलाइन एजुकेशन 2010 शुरू किया उसमें वह यूपीएससी और ऑस्ट्रेलिया में अपने क्लाइंट्स को सौंपी यस बेचा करते थे।
  •  उनका परिवार जोधपुर राजस्थान से साफ और उनके पिता इंजीनियर है और कंस्ट्रक्शन कंसेंसस के तौर पर कार्य करते हैं तथा उनकी मां बहन थी उनकी पत्नी दिव्या चार्टर्ड अकाउंटेंट है और उनकी अपनी कंसलटेंट फॉर भी है उन्हें दो काम एक साथ करने में ज्यादा परेशानी नहीं आई क्योंकि अपने अपना काम बहुत पसंद था।
  • पढ़ना तो उन्हें वह सभी बहुत भाता था इसलिए वह साथ-साथ दोनों काम कर पाए ऐसा नहीं है कि उन्हें आगे बढ़कर कोई समस्या ही नहीं आई लेकिन अगर आप जो करना चाहते हैं उसे अगर पसंद करते हैं तो समस्याओं से पार पाया जा सकता है।
  •  उन्होंने भर 2015 2016 में यूपीएससी के लिए दो प्रयास किए थे लेकिन वह बगैर किसी गंभीर तैयारी की शादी के बाद उनकी पत्नी ने दोबारा परीक्षा देने के लिए उनका मन बनाया और इसी दौरान पूरे 2 साल वह उनके साथ डटकर खड़े नहीं यूपीएससी की तरफ दोबारा मुड़कर देखने की जरूरत नहीं थी लेकिन उन्होंने उन्हें एहसास दिलाया कि यूपीएससी का का पीछे अधूरा छोड़ आया हूं और उन्हें वापस मुड़कर यह काम पूरा करना चाहिए।
  • इस बात ने उन्हें काफी प्रेरणा दी उनके पिता मां और भाई की तो इस सफर में बहुत बड़ी भूमिका थी और उन्हें अपने जीवन में चार लोगों के अलावा किसी को भी अपने तैयारी के बारे में नहीं बताया यह हादसा लोगों ने उनकी तैयारी को परिवार बा ख़ास दोस्तों से छुपा कर रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई ऐसा नहीं था,कि वह इस बारे में किसी को बताना नहीं चाहते थे लेकिन वह नहीं चाहते थे। 
  • उन पर बेवजह का सामाजिक दबाव पड़े वह दो साल से गहरी जिंदगी जीते रहे और यह विचार डाक से जुनून और मुश्किल घड़ियों में उनकी काफ़ी ज़्यादा मदद की बार-बार मत बदलना और इधर ध्यान रखना उनके लिए काफी आम बात थी इससे अकेले निपटना मुश्किल था।
  •  यह हाल जब है अपने गुडग़ांव स्थित दफ्तर में अपने घर जोधपुर चले आए ताकि परिवार के साथ रह सकें इससे उन्हें काफी ज्यादा मदद मिली इसी के साथ मैं कुछ स्पिरिट्स को भी कुछ टिप्स लेना चाहते थे रोज खुद को यह याद दिलाना पता था कि ऐसा ही क्यों कर रहे हैं यह समझना है कि मिजाज का बार-बार बदलना अस्थाई है लेकिन उनकी उपलब्धि निकालेंगे जिसे लेकर आएंगी इस दौरान उन्होंने एक विचित्र काम किया नेटफ्लिक्स पर खूब सारी जैक और क्राइम्स कर देगी।
  • उन देखने के बाद उन्हें अहसास हुआ कि उनकी जिंदगी तो बहुत ही आसान है उन्हें केवल क्वार्टर पढ़ना है तो है वह हर महीने में दो-तीन दिन के लिए अपनी पत्नी के साथ शॉर्ट फिक्शन पर जाया करते थे
  • निश्चित रूप से बीच-बीच में दो-तीन दिन की छुट्टियां बहुत फायदेमंद साबित होती हैं उनकी पसंदीदा फिल्म है पशु एट ऑफ हैप्पीनेस उन्हें हमेशा लगता है कि अगर विपरीत हालात में और इस कारण कुछ कर सकता है तो वह भी ऐड कर सकते हैं। 
अगर आपको हमारा ये video पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share करें, और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल है, तो उसे Comment में लिखकर हमें बताएँ। जल्द ही आपसे फिर मुलाकात होगी एक नए topic पर, एक नए video के साथ।

देखते रहिए, 
Prabhat Exams
नमस्कार!


No comments:

Post a Comment