Wednesday, March 16, 2022

How to read NCERT for UPSC || UPSC के लिए NCERT कैसे पढ़ें ? || NCERT For UPSC || Prabhat exam

NCERT कैसे पढ़ें? / UPSC पूँछता है NCERT के ये प्रश्न।

एनसीईआरटी की किताबें यूपीएससी की तैयारी करने वाले हर स्टूडेंट के लिए गीता समान होती है। हर aspirant को सबसे पहले एनसीईआरटी पढ़ने की सलाह दी जाती है और कई लोग तो सिर्फ एनसीईआरटी ही पढ़ने की सलाह भी देते हैं। लेकिन एनसीईआरटी की किताबों को पढ़ने का भी तरीका है, क्या आप जानते हैं? नहीं, आइए जानते हैं आज के वीडियो में। 

नमस्कार, स्वागत है आपका Prabhat Exam के Youtube Channel पर। ये एक ऐसा Platform है, जहां आपको मिलती हैं सभी Competitive exams से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां, जो आपकी किसी भी exam में सफल होने में काफी मदद कर सकती हैं। अगर आप हमारे YouTube Channel पर पहली बार आए हैं, तो हमें Like और Subscribe ज़रूर करें और हमारे latest videos और updates सबसे पहले आप तक पहुँचें इसके लिए Bell icon को press करना ना भूलें। तो आइए शुरुआत करते हैं आज के video की, जो है –

NCERT कैसे पढ़ें? UPSC EXAM के लिए

यूपीएससी की तैयारी के लिए एनसीईआरटी की किताबें पढ़नी चाहिए, यह तो सब को पता है लेकिन इनको लेकर स्टूडेंट्स के मन मे कई तरह के सवाल भी उमड़ते रहते हैं। जैसे किस क्लास से लेकर किस क्लास तक की एनसीईआरटी किताबें पढ़नी चाहिए, एनसीईआरटी से नोट्स बनाने चाहिए या नहीं, या फिर एनसीईआरटी को कितनी बार पढ़नी चाहिए इत्यादि। आज हम ऐसे ही कुछ कॉमन क्वेश्चन्स के आन्सर ढूँढेंगे। 

एनसीईआरटी क्यों पढ़ें? 

  • एनसीईआरटी केंद्र सरकार द्वारा स्थापित संस्था है और इसे लिखने वाले लोग अलग अलग क्षेत्रों के विशेषज्ञ होते हैं। यदि आपने गौर किया होगा तो अन्य किताबों की तरह एनसीईआरटी की किताबों पर किसी लेखक का नाम नहीं होता। हाँ अंदर के पन्ने पर उसे लिखने वाले सभी विशेषज्ञों का उल्लेख रहता है। इसके अलावा, एनसीईआरटी में दी गयी जानकारी विश्लेषणात्मक और तथ्यपरक होती है। मतलब आप इसके तथ्य पर पूरा भरोसा कर सकते हैं और exam में भी इसे ही authentic माना जाता है। 

कौन सा एडिशन पढ़ना चाहिए? 

  • एनसीईआरटी के दोनों संस्करण ही ठीक है, पहले के संस्करण में चित्रों की संख्या कम है, नए संस्करण में चित्रों के माध्यम से समझाया गया है, जिससे बच्चों को देर तक याद रह सके। एनसीईआरटी की पुस्तकों का निर्माण छोटे बच्चों के स्तर के अनुसार किया जाता है। आप अपनी इच्छा के अनुसार किसी का भी अध्ययन कर सकते है, मूल चीजे दोनों में एक ही है।

एनसीईआरटी पुस्तकों को कैसे पढ़े?

  • एनसीईआरटी की पुस्तकों को सही ढंग से पढ़ने के लिए पहले आपको प्रत्येक अध्याय के अंत में प्रश्नों को पढ़ना चाहिए। इसके बाद आपको प्रश्नों के उत्तर को ढूँढने का प्रयास करना चाहिए। इसके बाद आपको अध्याय पढ़ना चाहिए।  इससे आप तुलनात्मक ज्ञान प्राप्त कर सकते है। यह काम तीन चरणों में किया जाना चाहिए -
  • पहले चरण में विषयवार कक्षा 6 से 12 वीं तक क्रमशः पुस्तकों को पढ़ना चाहिए। दूसरे चरण में पढ़ते समय महत्वपूर्ण बिंदुओं को रेखांकित करना चाहिए; साथ ही अवधारणात्मक समझ को विकसित करने का प्रयास करना चाहिए और तीसरे चरण में एनसीईआरटी पुस्तकों में महत्वपूर्ण अवधारणाओं को नोट करते हुए विषयवार नोट्स बनाने चाहिए तथा उन्हें समसामयिकी तथा पाठ्यक्रम में सम्मिलित अन्य अवधारणाओं से जोड़ने का प्रयास करना चाहिए।

एनसीईआरटी किताबें कितनी बार पढ़नी चाहिए?

  • यह अभ्यर्थी की किसी विषय या घटना को समझने की क्षमता पर निर्भर करता है। आप दो बार इसका अध्ययन करने के बाद प्रत्येक 3 महीने में इसको रिवाइज कर सकते है। आपको दिए गए प्रश्नो को अवश्य हल करना चाहिए जिससे आपकी पकड़ पूरे अध्याय पर जल्दी हो जाएगी।

क्या एनसीईआरटी पुस्तकों के नोट्स बनाने की आवश्यकता है?

  • आप जो भी पढ़ते हैं, उसे याद रखने और revise करने के नोट्स बनाना बहुत जरूरी है। एनसीईआरटी की किताबें पतली होती हैं लेकिन उसका यह मतलब नहीं होता कि आपको उनसे नोट्स बनाने की जरूरत नहीं। एनसीईआरटी से नोट्स भी बनाने चाहिए और उन्हें बार बार revise भी करना चाहिए। अगर आप चाहें तो important पॉइंट्स कोई भी किताब में नोट या हाइलाइट भी कर सकते हैं। 

एनसीईआरटी से परीक्षा में कितने सवाल पूछे जाते हैं?

  • प्रारम्भिक परीक्षा में औसतन आठ से दस सवाल ऐसे होते हैं जो direct एनसीईआरटी से पूछे जाते हैं और कभी कभी तो यह संख्या 15 के आसपास भी पहुँच जाती है। indirect सवालों की संख्या भी on an average 5 – 6 रहती है। कई बार यूपीएससी एनसीईआरटी में topics को समझने के लिए दिए गए चित्रों और उदाहरणों से भी सवाल पूछ लेता है, तो इन्हें बिल्कुल neglect ना करें।
  •  इसके अलावा मुख्य परीक्षा में भी 15 से 20 प्रतिशत सवाल एनसीईआरटी पर आधारित होते हैं। साथ ही एनसीईआरटी पुस्तकों को पढ़कर मुख्य परीक्षा के लिए जरूरी अवधारणात्मक समझ को विकसित किया जा सकता है।

तो उम्मीद है कि इस वीडियो को देखने के बाद आपके मन मे एनसीईआरटी को लेकर जो confusions थे वो दूर हो गए होंगे। अगर आपको हमारा ये video पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share करें, और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल है, तो उसे Comment में लिखकर हमें बताएँ। जल्द ही आपसे फिर मुलाकात होगी एक नए topic पर, एक नए video के साथ,

देखते रहिए, 

Prabhat Exams

नमस्कार!

Please Follow Us :  Youtube  Twitter  Telegram  Facebook  Instagram  Whatsapp

No comments:

Post a Comment