Saturday, March 19, 2022

क्या English में कमजोर Students भी बन सकते हैं IAS || Prabhat Exam

क्या English में कमजोर Students भी बन सकता है IAS?

आज हमारे देश में English status symbol से ज्यादा एक necessity यानी आवश्यकता बन गयी है। हमारे देश में इतनी सारी भाषाएँ बोली जाती हैं लेकिन इंग्लिश ऐसी भाषा है जो देश के लगभग हर कोने में बोली और समझी जाती है और इसका असर यूपीएससी में भी दिखता है। तो क्या इसका मतलब यह हुआ कि जिसे इंग्लिश नहीं आती है वो आईएएस नहीं बन सकता है? आइए जानते हैं आज के वीडियो में। 

नमस्कार, स्वागत है आपका Prabhat Exam के YouTube Channel पर। ये एक ऐसा Platform है, जहां आपको मिलती हैं सभी Competitive exams से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां, जो आपकी किसी भी exam में सफल होने में काफी मदद कर सकती हैं। अगर आप हमारे YouTube Channel पर पहली बार आए हैं, तो हमें Like और Subscribe ज़रूर करें और हमारे latest videos और updates सबसे पहले आप तक पहुँचें इसके लिए Bell icon को press करना न भूलें। तो आइए शुरुआत करते हैं आज के video की, जो है - 

क्या English में कमजोर Students भी बन सकता है IAS? 

दोस्तों, हालांकि यूपीएससी ने अपनी परीक्षा में इंग्लिश भाषा के लिए कोई अनिवार्यता नहीं रखी है लेकिन मुख्य परीक्षा में एक अनिवार्य पेपर इंग्लिश का भी है जिसे qualify किए बिना बाकी पेपर्स क्लीयर नहीं होते। इसका मतलब यह हुआ कि यूपीएससी ने सीधे तौर पर ना कहकर चुपके से एक ऐसी शर्त रख दी है जिसमें इंग्लिश भाषा को compulsory बना दिया गया है। ऐसे में सवाल उठता है कि जो स्टूडेंट्स इंग्लिश में कमजोर हैं, वे क्या करें? 

  • सबसे पहले तो आपको निराश होने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि यूपीएससी इंग्लिश का जो टेस्ट लेती है वो टेंथ लेवल का होता है और स्कूल में तो सब का इंग्लिश पढ़ना compulsory है। 
  • इसके अलावा बाकी papers के एग्जाम्स आप अपनी पसंद की भाषा में दे सकते हैं। इसके लिए यूपीएससी आपकी choice पहले ही पूछ लेता है और इंटरव्यू भी आपकी पसंद की भाषा में ही conduct किया जाता है। इस तरह कह सकते हैं कि अगर यूपीएससी एक तरफ इंग्लिश को compulsory बनाता है तो दूसरी तरफ हमें बाकी परीक्षाएं अपनी पसंद की भाषा में देने की सहूलियत भी देता है। 
  • इसीलिए सबसे पहले अपने मन से यह बात निकाल दें कि अगर आपको इंग्लिश में मुश्किल होती है तो आप इस एग्जाम में qualify ही नहीं कर सकते। आपको अंग्रेजी आनी आवश्यक है क्योंकि मुख्य परीक्षा में एक प्रश्न पत्र अंग्रेज़ी का होता है जिसे आपको पास करना होगा। लेकिन बेहतर होगा कि तैयारी के दौरान आप अपनी इंग्लिश को भी स्ट्राँग कर लें क्योंकि भले ही आईएएस बनने के लिए ज्यादा अंग्रेज़ी जानने की जरूरत न पड़े, परंतु आईएएस बनने के बाद आपको अंग्रेज़ी जानने की जरूरत स्वयं महसूस होने लगेगी। 
  • आपके ज्यादातर आधिकारिक कार्य अंग्रेज़ी में ही सम्पन्न होंगे, कोर्ट के आदेश अंग्रेज़ी में ही प्राप्त होंगे, केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार से परिपत्र भी अंग्रेज़ी में ही प्राप्त होंगे, दक्षिण भारत तथा उत्तर-पूर्वी राज्यों में संवाद के लिए अंग्रेज़ी ही आपका साथ देगी, साथ ही जब आप प्रोटोकॉल अफसर की भूमिका निभाएंगे तो अपने ज़िले में आये हुए विदेशी मेहमानों से भी अंग्रेज़ी में ही संवाद करना होगा। ऐसे में आईएएस के लिए अंग्रेज़ी का महत्व आप भली-भांति समझ गए होंगे। 
  • अब बात करते हैं कि अपनी इंग्लिश को improve कैसे करें। इसके लिए आपको अलग से किताबें लेकर बैठने की जरूरत नहीं है। इसके लिए अंग्रेजी के विकल्प के विषय में न सोचिए। सिर्फ यह कीजिए कि प्रतिदिन सरकारी चैनल पर हिंदी और अंग्रेजी दोनों के समाचार सुनिए। 

  • ऐसी जगह से करेंट अफेयर्स पढ़िए जहां हिंदी और अंग्रेजी दोनों का प्रयोग हो। इस प्रकार के प्रयास से आप अंग्रेजी भाषा पर अपनी पकड़ मजबूत कर सकते हैं। 

अगर आपको हमारा ये video पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share करें, और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल है, तो उसे Comment में लिखकर हमें बताएँ। जल्द ही आपसे फिर मुलाकात होगी एक नए topic पर, एक नए video के साथ।

देखते रहिए, 

Prabhat Exams

नमस्कार!

Please Follow Us :  Youtube  Twitter  Telegram  Facebook  Instagram  Whatsapp


No comments:

Post a Comment