Monday, October 12, 2020

UPSC Prelims Trend Analysis || UPSC Prelims 2020

जैसा की हम सभी जानते है की यूपीएससी की परीक्षा तीन चरणों में ली जाती है- प्रीलिम्स मैंस और इंटरव्यू। क्यूंकि प्रीलिम्स पहला चरण होता है इसलिए इसकी महत्वता सबसे ज़्यादा है। प्रिलिम्स के एग्जाम के डिटेल्स सिलेबस के लिए आप हमारी पुरानी विडियो देख सकते है जिसका लिंक DESPCRIPTION बॉक्स में है। 

आज की VIDEO ME HUM PRELIMS EXAM KE पिछले 10 वर्षों में पूछे गए प्रश्नों और उनके विषयो की एक DETAILED ANALYSIS KARENGE AUR SAATH HI YH जानने की कोशिश करेंगे कि यूपीएससी किन विषयो से ज़्यादा प्रश्न पूछता है। तो चलिए शुरुआत करते है अाज की विडियो से।

दोस्तो स्क्रीन पे नज़र आ रहे चार्ट पे आप देख सकते है कि अलग अलग वर्षों में किस विषय से कितने प्रश्न पूछे गए। 

जैसे कि आप नोटिस कर पा रहे होंगे- 

केवल  पर्यावरण विषय एक ऐसा विषय रहा है जहा से पूछे जाने वाले प्रश्नों की संख्या लगभग सामान रही है। वर्ष  2015 और 2018 को छोड़कर अधिकांश वर्षों में लगभग 15 से 18 प्रश्नों के साथ कुछ हद तक पर्यावरण विषय के प्रश्नों में स्थिर प्रवृत्ति दिखाई दी है। अन्य विषयों में हर साल व्यापक बदलाव दिखाई देते हैं।

उदाहरण के लिए polity विषय में पूछे गए सवाल जहा, 2016 में  7 थे तो वहीं  2017 में 22। यह एक वर्ष के लिए व्यापक बदलाव है।  इसी तरह, सीधे तौर पर करेंट अफेयर्स से जुड़े सवाल 2013 में 0 से तीन साल बाद 2016 में 27 तक पहुंच गए। इसलिए विभिन्न विषयों के लिए UPSC प्रीलिम्स के वेटेज की भविष्यवाणी करना बहुत मुश्किल है।  यह UPSC की ओर से जानबूझकर पैटर्न-आधारित अध्ययन को रोकने के लिए किय जाता है।  हालाँकि, वर्ष दर वर्ष करंट अफेयर्स के सवाल संख्या में सबसे आगे रहे है लेकिन 2020 के प्रेलिमस के पेपर में इनकी संख्या में एक बड़ी कमी देखी गई है। साथ ही 2020 के प्रेलीमस में एप्लिकेशन बसेड प्रश्न ज़्यादा पूछे गए है।  इसलिए उम्मीदवारों को अपनी तैयारी की जांच करने के लिए पिछले वर्ष के यूपीएससी पत्रों का अभ्यास ज़रूर करना चाहिए लेकिन इसके अलावा, एक संतुलित अध्ययन योजना भी tayyar करनी चाहिए जिसमें हर विषय को बराबर समय आवंटित करना चाहिए।

👉Visit us: Prabhat UPSC Books

👉Visit For: UPSC/IAS Video

👉Follow us: You Tube Telegram Facebook Twitter

No comments:

Post a Comment