Wednesday, December 9, 2020

 

How to study for UPSC IAS 2020 II UPSC IAS की पढ़ाई कैसे करें ?


प्रभात प्रकाशन द्वारा प्रकाशित पुस्तकें सिविल सेवा की प्रारंभिक एवं मुख्य परीक्षाओं को ध्यान में रखकर लिखी गई है। इन पुस्तकों में यूपीएससी (UPSC) संबंधित केस स्टडीज भी हैं, जो सिविल सर्विसेज की परिक्षाओं की तैयारी करने वाले छात्रों का मार्गदर्शन करेगी।



1) सबसे पहले एक तो एक study schedule बनाएं 

किसी भी applicant को दूसरों उम्मीदवारों के साथ अपना comparison नहीं करना चाहिए। अपने अध्ययन करने के टाइम या घंटों की कभी तुलना नहीं करनी चाहिए... क्योंकि आपने कितने घंटे पढाई की है, इससे फर्क नहीं पड़ता है बल्की मायने ये रखता है, कि आपने उस समय में कितने ध्यान से और मन लगा कर पढ़ाई की है Applicants को हमारी तरफ से advice यही रहेगी, कि उन्हें अपने study schedule का नियमित रूप से पालन करना चाहिए।

2) इसके अलावा आपको current affairs से अपडेट रहना होगा

UPSC प्रश्नपत्र current affairs, के आधार पर होता है। यानि आपको मौजूदा मामलों की खबर रखनी होगी। इसके लिए आपको बराबर अपडेट रहना होगा। अखबार पढ़ने होंगे और न्यूज़ चैनल्स देखने होंगे। Question paper के बहुत सारे सवाल current affairs पर आधारित होंगे और इसलिए आपको अपने पाठ्यक्रमों को वर्तमान मामलों से भी जोड़ कर अध्ययन करने की जरूरत है। उदाहरण के लिए, जो खबर या विषय अक्सर सुर्खियों में रहा है, उसकी निश्चित तौर पर सारी जानकारी आपको इकट्टी करनी होगी। इसके अलावा आपको political, sports, economy हर विषय में रूचि रखनी होगी और इनसे जुड़ी सारी खबरों पर नज़र रखनी होगी।

3) IAS EXAMS में बैठने वाले उम्मीदवारों के लिए तीसरी रणनीति होनी चाहिए प्रश्नों को हल करने की गति में तेज़ी लाना

दरअसल प्रारंभिक परीक्षा के संबंध में एक आम गलत घारणा ये भी है कि इसके लिए आपको बहुत सारे facts और numbers याद करने की जरूरत होती है, जबकी अब तक के exams के पाठ्यक्रमों को देखें, तो पता चलता है कि इस परीक्षा में आपका assessment यानि मूल्यांकन कई अलग अलग मानकों पर किया जाता है.... जैसे आपकी विश्लेषण की क्षमता, आपके प्रश्नों को हल करने की गति के आधार पर भी आपको परखा जाएगा। इन exams में आपको 120 मिनटों में 200 सवालों का जवाब देना होगा, जो प्रति मिनट एक प्रश्न से भी कम है।

4) चौथी strategy क्या कहती है कि

C-SAT के लिए उम्मीदवारों को गणित, विज्ञान और इंजीनियरिंग subject की समझ भी बखूबी रखनी होगी, ताकी आप इस पेपर को सफलतापूर्वक पास कर पाएगें। इसके अभ्यास के लिए पिछले कुछ साल के UPSC  C-SAT  प्रश्नों को हल करने की कोशिश करें। इस बात का खास ख्याल रखना होगा कि जो उम्मीदवार C-SAT में कामयाबी हासिल नहीं कर पाता, वो आगे के exams देने के लिए eligible नहीं होगा, इसलिए इस पेपर के लिए आपको जमकर तैयारी करनी होगी.... ताकी कम से कम minimum passing marks तो आप हासिल कर लें।

5) यह IAS की परीक्षा में मानचित्र सीखना महत्वपूर्ण है

इसके अलावा IAS exams में maps को study करना भी बहुत important है। प्रारंभिक परीक्षा में मानचित्र संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं और UPSC मुख्य परीक्षा में भूगोल के वैकल्पिक विषय के पेपर में भी इसका बहुत महत्व है। सामान्य तौर पर आप प्रारंभिक परीक्षा में मानचित्र अनुभाग से 9 से 10 प्रश्नों की उम्मीद कर सकते हैं। पहले परीक्षाओं में आपको रिक्त नक्शे दिए जाते थे और उस नक्शे पर स्थानों को चिह्नित करना होता था, लेकिन मौजूदा वक्त में, नक्शे नहीं दिए जाते हैं, सिर्फ प्रश्नों में जगहों के नाम होते हैं और आपको उन्हें सही क्रम में व्यवस्थित करना होता है।

6) भूगोल के अलावा एक और विषय है..

भूगोल के अलावा एक और विषय है जो हमारी छठी रणनीति का हिस्सा है और जिसे आप नजरअंदाज नहीं कर सकते और वो है अनिवार्य भारतीय या क्षेत्रीय भाषा का प्रश्न पत्र। मिज़ोरम, मेघालय, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर और नागालैंड के उत्तर-पूर्व राज्यों के उम्मीदवारों को छोड़कर सभी उम्मीदवारों के लिए हिंदी अनिवार्य प्रश्न पत्र है। बाकी क्षेत्रों के अभ्यर्थी संविधान की 8वीं अनुसूची के तहत किसी भी भाषा को ले सकते हैं। औसतन 65% उम्मीदवारों ने हिंदी को भारतीय भाषा के पेपर के रूप में चुना, हालांकि हिंदी भारत में केवल 42% लोगों की मातृभाषा के रूप में प्रयोग की जाती है। 2010 में, लगभग 10% उम्मीदवार विफल रहे क्योंकि वो भाषा के पेपर में आवश्यक न्यूनतम अंक भी सुरक्षित नहीं कर पाए। 

7) और आखिर में आपको अपनी तैयारी का आकलन करना चाहिए...

इसके लिए आपको बार-बार mock test देना चाहिए। जिससे आपको पता चलेगा कि आपकी तैयारी किस दिशा में जा रही है। किसी भी तरह की चूक की सूरत में आप अपनी रणनीति में भी बदलाव भी कर सकते हैं।

दोस्तों ये तो थी वो 7 strategies जिनपर अमल करने से आपको अपनी तैयारी में काफी मदद मिलेगी.... लेकिन इसके अलावा हमारी उम्मीदवारों को सलाह है वो इस competition को महज परीक्षा की की तरह न लें, बल्कि इस विचार के साथ exam दें कि वो सिविल सेवा परीक्षा के माध्यम से देश की सेवा करेंगे। इस दृष्टिकोण से तैयारी करने से न सिर्फ उनकी preparation बेहतर होगी, बल्कि यह मानसिकता उन्हें दूसरे उम्मीदवारों से अलग भी बनाएगी।

Facebook        Youtube          Twitter        Phone📲        Email 





No comments:

Post a Comment

Imp Post

भारत के Top महिला IAS अधिकारी || Top Women IAS Officer of India

 UPSC के रैंक लिस्ट में हर साल महिलाओं ने अपनी प्रतिभा और मेहनत के बल पर उच्च स्थान पायी है और सिविल सेवा में रहते हुए देश के विकास में अपन...