Tuesday, October 6, 2020

BPSC Topper बनने के लिए पढ़ें ये 9 किताबें || Best Books For Crack BPSC Exam

BPSC CRACKER बनने के लिए पढ़ें ये 9 किताबें..... 

आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि बिहार राज्य लोक सेवा आयोग (BPSC) की तैयारी करते समय आपको अपने सिलेबस के बुक्स के अलावा और किन-किन पुस्तकों से बेहतरीन मदद मिल सकती है, जिससे आपको अपनी मंजिल  पाने में आसानी हो| तो चलिए इसी क्रम में हम आपको बताते हैं प्रभात प्रकाशन की 9 ऐसी पुस्तकों के बारे में, जिससे आपको अपनी परीक्षा की तैयारी करने में विस्तृत और महत्वपूर्ण मदद मिल सकती है|

BPSC की तैयारी से सम्बंधित हमारी पहली पुस्तक का नाम है .........

“बिहार सामान्य ज्ञान”  

बेस्ट सेलिंग पुस्तकों में शुमार की जानेवाली इस पुस्तक के लेखक हैं वर्ष 2002 बैच के IAS ऑफिसर डॉ. मनीष रंजन| जो वर्तमान में झारखंड सरकार में कार्यरत है| प्रोफेशनल कैरिएर में उन्होंने IAS की मेरिट में प्रथम स्थान पाने के लिए ‘डायरेक्टर्स गोल्ड मैडल’ प्राप्त किया था| देश-विदेश के उच्च प्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्थानों से शिक्षा प्राप्त डॉ. मनीष रंजन की लिखी पुस्तक “बिहार सामान्य ज्ञान” BPSC परीक्षा की सम्पूर्ण और व्यापक तैयारी के लिए अति उत्तम है| 40 अध्यायों में विभाजित यह पुस्तक बिहार के विषय में संपूर्ण जानकारी देती है और राज्य की ऐतिहासिक, भौगोलिक, राजनीतिक, सामाजिक, सांस्कृतिक और आर्थिक स्थिति का विस्तार से विश्लेषण करती है। बिहार में वर्तमान में हुए विकास और परिवर्तन की तर्कपूर्ण और रोचक प्रस्तुति इसे विशिष्ट बनाती है। इसके अलावा बिहार में क्रियान्वित विभिन्न योजनाएँ, संप्रति बिहार सांख्यिकीय उपस्थापन और बिहार प्रश्नावली जैसे प्रतियोगितापरक अध्याय इसके मुख्य आकर्षण हैं। परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों हेतु बिहार दिग्दर्शन पर आधारित यह एक बहुत उपयोगी और पठनीय पुस्तक है।

 इस पुस्तक के IMPORTANT CHAPTERS हैं-

बिहार का राजनैतिक इतिहास

मुगलकालीन बिहार

बिहार में सूफीवाद

स्वतंत्रता आन्दोलन में महिलाओं की भूमिका

पृथक बिहार आन्दोलन

वास्तुकला एवं चित्रकला

बिहार के विभूति

बिहार औद्योगिक क्षेत्र विकास प्राधिकरण

बिहार में बैंकिंग अधिसंरचना

बिहार बजट

बिहार दिवस

हमारी दूसरी पुस्तक है....... सामान्य अध्ययन श्रृंखला से संबंधित

BPSC बिहार राज्य लोक सेवा आयोग सामान्य अध्ययन श्रृंखला

इस श्रृंखला में शामिल है हमारी पांच पुस्तकें – ‘भारतीय अर्थव्यवस्था’, ‘भारतीय राजव्यवस्था’, ‘भूगोल एवं पर्यावरण’(भारत एवं विश्व), ‘सामान्य विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी’, तथा ‘भारतीय इतिहास एवं कला-संस्कृति’| 

प्रभात एग्जाम के संपादक समूह द्वारा निर्मित BPSC की प्रारंभिक परीक्षा के लिए ये सारी पुस्तकें बहुत इम्पोर्टेन्ट हैं| इन पुस्तकों में विषय से संबंधित सभी तथ्यों पर गहराईपूर्वक विवेचना संक्षिप्त अवलोकन के रूप में सरल एवं स्पष्ट भाषा शैली में की गयी है| साथ ही सभी मुख्य और महत्वपूर्ण तथ्यों को बॉक्स में रेखांकित किया गया है| अभ्यर्थियों की सुविधा हेतु 38वीं से 64वीं परीक्षा के अध्यायवार साल्व्ड पेपर्स व्याख्या सहित उत्तर के साथ दिए गए हैं| साथ ही स्वमूल्यांकन के लिए प्रैक्टिस प्रश्नावली भी दी गयी है| इन पुस्तकों की यूएसपी केस स्टडी के दृष्टिकोण के बारे में उम्मीदवारों का मार्गदर्शन करना है। इन पुस्तकों से आपको अपनी परीक्षा की तैयारी के लिए काफी help मिल सकती है।

इन पुस्तकों के MAIN और IMPORTANT CHAPTERS हैं-

भारतीय अर्थव्यवस्था

आर्थिक विकास, नियोजन एवं राष्ट्रीय आय

मुद्रा, बैंकिंग एवं राजकोषीय नीति

कृषि, उद्योग और व्यापार

भारतीय राजव्यवस्था

भारतीय संविधान

भारतीय कार्यपालिका

पंचायती राज एवं ई-गवर्नेस

संस्थाएं एवं केंद्र-राज्य सम्बन्ध

भूगोल एवं पर्यावरण (भारत एवं विश्व)

विश्व का भूगोल

भारत का भूगोल

सामान्य विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी

भौतिक विज्ञान

रसायन विज्ञान

जीव विज्ञान

विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी

भारतीय इतिहास एवं कला-संस्कृति

प्राचीन भारत

मध्यकालीन भारत

आधुनिक भारत 

स्वतंत्रता आन्दोलन

तीसरी किताब का नाम है....... 

BPSC सामान्य अध्ययन प्रारंभिक परीक्षा

(1992 से 2020 तक साल्व्ड पेपर्स) 

एवं

BPSC  COMBINED  COMPETITIVE  PRELIMINARY  EXAM 

SOLVED  PAPERS (1992 से 2020)

यह पुस्तक हिन्दी और अंग्रेजी दोनों भाषा में उपलब्ध है|

प्रभात एग्जाम के संपादक समूह द्वारा निर्मित यह पुस्तक बिहार लोक सेवा आयोग परीक्षा की तैयारी करनेवाले अभ्यर्थियों की सुविधा हेतु विशेष रूप से तैयार की गयी है| यह पुस्तक अभ्यर्थियों की परीक्षा की तैयारी में सहायक होने के साथ-साथ उन्हें परीक्षा-पद्धति से पूर्णत: अवगत कराने में भी सहायक हैंI 

‘सामान्य अध्ययन’ की इस पुस्तक में बिहार लोक सेवा आयोग की विगत वर्षों में हुई प्रारंभिक परीक्षाओं - 1992 से 2020 तक, के प्रश्नों को संकलित किया गया है और उन्हें व्याख्या सहित उत्तर के साथ प्रस्तुत किया गया है| पुस्तक में प्रश्नों की व्याख्याओं का सरल एवं स्पष्ट भाषा में प्रस्तुतीकरण करने के साथ-साथ  तथ्यों की सत्यता पर भी विशेष बल दिया गया है| प्रश्नों की गुणवत्ता एवं कठिनाई स्तर को परीक्षा के अनुरूप बनाए रखने हेतु विगत वर्षों के प्रश्न-पत्रों का गहन अध्ययन किया गया हैI यह पुस्तक BPSC के अभ्यर्थियों के लिए Important होने के साथ-साथ एक Asset की तरह है।

अंग्रेजी भाषा में उपलब्ध इस पुस्तक में BPSC की विगत वर्षों में हुई मुख्य परीक्षाओं - 1993 से 2019 तक, के प्रश्नों को भी उनके व्याख्या सहित उत्तर के साथ प्रस्तुत किया गया है| 

हिंदी भाषा में उपलब्ध इस पुस्तक की विशिष्टता हैं-

1. BPSC : 38th (प्रारंभिक) परीक्षा-1992 से लेकर BPSC : 65th  (प्रारंभिक परीक्षा/ पुनार्प्राराम्भिक परीक्षा) 2020 तक के प्रश्नों का संकलन|

अंग्रेजी भाषा में उपलब्ध इस पुस्तक की विशिष्टता हैं-

2. BPSC : 38th (प्रारंभिक) परीक्षा -1992 से लेकर BPSC : 65th (प्रारंभिक परीक्षा/ पुनार्प्राराम्भिक परीक्षा) 2020 तक के प्रश्नों का संकलन

3. BPSC : 39th (मुख्य) परीक्षा -1993 से लेकर BPSC : 64th  (मुख्य) परीक्षा -2020 तक के प्रश्नों का संकलन|

हमारी 4th Book, जिसके बारे में मैं आपको बताने जा रही हूँ, उसका नाम है – 

BPSC सामान्य अध्ययन GENERAL STUDIES प्रारंभिक परीक्षा

BPSC सामान्य अध्ययन GENERAL STUDIES प्रारंभिक परीक्षा’ पुस्तक के लेखक हैं डॉ. वीरेन्द्र प्रसाद यादव| सिविल सर्विसेज परीक्षा वर्ष 2004 के बैच के अधिकारी डॉ. वीरेन्द्र प्रसाद यादव ने कई महत्वपूर्ण पदों पर अपनी सेवाएं दी हैं| प्रशासनिक दक्ष डॉ. वीरेन्द्र प्रसाद यादव साहित्य के माध्यम से समाज-सेवा में समर्पित हैं। 

विशेषत: बिहार लोक सेवा परीक्षा हेतु लिखी गयी ‘BPSC सामान्य अध्ययन प्रारंभिक परीक्षा’ पुस्तक का मुख्य उद्देश्य विषय-विशेष से सम्बंधित समस्त प्रासंगिक जानकारी उपलब्ध कराकर,परीक्षा की तयारी कर रहे अभ्यर्थियों के लिए अध्ययन प्रक्रिया को सुगम बनाना है| इस पुस्तक को 9 भागों ( भारत का इतिहास, भारत एवं विश्व का भूगोल, आर्थिक भूगोल, भारत का भूगोल, भारतीय राजव्यवस्था, भारतीय अर्थव्यवस्था, विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी, सामान्य ज्ञान, बिहार : सामान्य ज्ञान, समसामयिक घटनाएं) में समायोजित किया गया है| पुस्तक में विषय से सम्बंधित सभी अध्यायों का क्रमानुसार बुनियादी विवरण व्यापक विस्तृत विवेचना के साथ तथ्यपूर्ण, गुणात्मक, विश्लेषणात्मक, उच्चस्तरीय,विश्वसनीय और प्रभावकारी तरीके से प्रस्तुत की गयी है, जो बी.पी.एस.सी. प्रारंभिक परीक्षा की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों को सामान्य अध्ययन से संबंधित व्यापक सामग्री प्रदान करता है। सभी अध्याय के अंत में प्रश्नों के व्याख्यात्मक हलों का संकलन दिया गया है, जिसकी प्रस्तुति अनुसंधानपरक एवं व्यवस्थित रूप में की गयी है| इस पुस्तक का अध्ययन करके अभ्यर्थी परीक्षा पद्धति से अवगत होने के साथ ही प्रश्नों के कठिनाई स्तर से भी भली-भाँति परिचित हो पाएँगेI BPSC के प्रारंभिक परीक्षा में शामिल होनेवाले परीक्षार्थियों के लिए यह पुस्तक बहुत Useful और important है| 

इस Book के IMPORTANT CHAPTERS हैं-

लौह प्रयोक्ता संस्कृति

षोडश संस्कार (स्मृतियों के अनुसार)

पाण्डयों के संरक्षण में आयोजित तीन संगम

पेशवाओं के अधीन मराठाओं का उत्कर्ष

अंग्रेजों की आर्थिक नीतियाँ

पृथ्वी की आंतरिक संरचना

जेट स्ट्रीम की विशेषताएं

विश्व के विभिन्न भागों में स्थानान्तरित कृषि के नाम

भारत के महत्वपूर्ण ग्लेशियर

खाद्य श्रृंखला

शहरी स्वायत्त शासन संस्थाएं

भारत में राजनीतिक दल

बिहार में यूरोपीय व्यापारियों का आगमन

आजाद दस्ता

बिहार के प्रमुख साहित्यकार एवं उनकी कृतियाँ

👉Visit us: Prabhat Exam BPSC Books



No comments:

Post a Comment