Saturday, October 3, 2020

2 October 2020 Daily Current Affairs Show in Hindi | Current Affairs Today

इस श्रृंखला में हम प्रतियोगी परीक्षा के दृष्टिकोण से दिन के महत्वपूर्ण वर्तमान मामलों को कवर करते हैं।  हम विभिन्न समाचार पत्रों और वेब पोर्टलों से महत्वपूर्ण समाचारों को कवर करते हैं। इस करंट अफेयर शो को देखने के बाद आपको किसी भी न्यूज पोर्टल पर जाने की या न्यूजपेपर पढ़ने की आव्यशकता नहीं है।

1)स्वदेशी बूस्टर से युक्त ब्रह्मोस मिसाइल का सफल परीक्षण

स्वदेशी बूस्टर और एयरफ्रेम सेक्शन के साथ ही कई अन्य ‘मेड इन इंडिया’ उप प्रणालियों से युक्त सतह से सतह तक मार करने वाली सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस का ओडिशा में आईटीआर, बालासोर से आज 30 सितंबर, 2020 को पूर्वाह्न 10.30 बजे निर्धारित रेंज के लिए सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया। यह स्वदेशीकरण के विस्तार की दिशा में एक अन्य महत्वपूर्ण कदम है।

ब्रह्मोस लैंड-अटैक क्रूज मिसाइल (एलएसीएम) की अधिकतम गति मैक 2.8 रही थी।

2)वायु प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए दिल्ली और पड़ोसी राज्यों पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश तथा राजस्थान के पर्यावरण मंत्रियों की बैठक:

हर वर्ष सर्दियों में दिल्ली वासियों को वायु प्रदूषण की समस्या का सामना करना पड़ता है। हवा की गति और मिश्रण की ऊंचाई के उत्पाद के रूप में परिभाषित वेंटिलेशन सूचकांक, दिल्ली की वायु गुणवत्ता को प्रभावित करने वाला एक महत्वपूर्ण कारक है। यहाँ सर्दियां ठंडी हवा, शुष्क वायु और जमीन की तरफ कम हवा की स्थिति से प्रभावित होती हैं, जो वायु को स्थिर बनाता है और इसके फैलाव के लिए एक प्रतिकूल स्थिति पैदा होती है। सर्दियों के दौरान भारत की उत्तर और उत्तर-पश्चिम से पूर्व दिशा में हवा चलती है, जिसके परिणामस्वरूप अंततः प्रदूषण तथा कोहरे का संयोजन होता है और इसी कारण से सर्दियों के दौरान दिल्ली में भारी स्मॉग बनता है। सिर्फ इतना ही नहीं स्थानीय और क्षेत्रीय वायु प्रदूषण स्रोतों में वृद्धि होने के कारण गंभीरता और बढ़ जाती है।


 Download our PDF: https://bit.ly/3cVtZo4

इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए पिछले कुछ वर्षों में केंद्र सरकार ने बदरपुर ताप विद्युत संयंत्र को बंद किया गया है। इसके अलावा सोनीपत पावर प्लांट को बंद करना, कम प्रदूषण फैलाने वाले बीएस-VI मानकों को पूरा करने वाले वाहनों और ईंधन को बढ़ावा देना, दिल्ली में पेरिफेरल एक्सप्रेसवे का निर्माण तेजी से पूरा करना और ई-वाहनों को सब्सिडी आदि अन्य उपायों में शामिल हैं।

3)एमनेस्टी इंटरनेशनल ने भारत में अपने ऑपरेशन्स बंद किए:

एमनेस्टी इंटरनेशनल (एआई) एक गैर-सरकारी संगठन है जिसका मुख्यालय यूनाइटेड किंगडम में है जो मानव अधिकारों पर केंद्रित है।

मिशन: एमनेस्टी अंतर्राष्ट्रीय कानूनों और मानकों के अनुपालन के लिए मानवाधिकारों के हनन और अभियानों पर ध्यान आकर्षित करती है।

पृष्ठभूमि: 28 मई 1961 को वकील पीटर बेन्सन द्वारा "द फॉरगॉटन प्रिजनर्स" द ऑब्जर्वर में लेख के प्रकाशन के बाद एमनेस्टी इंटरनेशनल की स्थापना 1961 में लंदन में हुई थी।

पुरस्कार: संगठन को 1978 में "अत्याचार के खिलाफ मानवीय गरिमा की रक्षा," और 1978 में मानवाधिकार के क्षेत्र में संयुक्त राष्ट्र पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

4) स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने किया ICMR के वैक्सीन वेब पोर्टल और कोविड -19 हेतु राष्ट्रीय नैदानिक रजिस्ट्री का शुभारंभ 

ICMR का वैक्सीन पोर्टल भारत के साथ-साथ विदेशों को भी कोरोना वायरस वैक्सीन के विकास से संबंधित जानकारी प्रदान करेगा. इस तरह, हमारे देश के  नागरिक इस टीके के विकास से संबंध में होने वाले नवीनतम विकास और विभिन्न चरणों के बारे में खुद को अद्यतित रख सकेंगे.

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने 28 सितंबर, 2020 को ICMR (इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च) वैक्सीन वेब पोर्टल और कोविड -19 के लिए राष्ट्रीय नैदानिक ​​रजिस्ट्री (नेशनल क्लिनिकल रजिस्ट्री) का शुभारंभ किया.

कोविड -19 के लिए राष्ट्रीय नैदानिक ​​रजिस्ट्री के बारे में

ICMR द्वारा कोविड -19 की राष्ट्रीय नैदानिक ​​रजिस्ट्री, जिसे स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन द्वारा ने ही  लॉन्च किया था, भारत के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कोविड -19 रोगियों के व्यवहार, नैदानिक ​​और प्रयोगशाला जांच, और प्रबंधन प्रोटोकॉल के बारे में सारे महत्त्वपूर्ण आंकड़े/ डाटा एकत्र करेगी.

5)नवीन रक्षा अधिग्रहण प्रक्रिया-2020 (DAP 2020)

हाल ही में रक्षा अधिग्रहण प्रक्रिया 2020 जारी की गयी, जो पूंजी बजट से रक्षा उपकरणों की खरीद को नियंत्रित करेगी।

1 अक्टूबर से यह नवीन नीति, 2016 की रक्षा खरीद प्रक्रिया का स्थान लेगी।

नवीन नीति की मुख्य विशेषताएं:

स्वदेशी कंपनियों के लिए आरक्षण:

नीति में स्वदेशी कम्पनियों के लिए अनेक खरीद श्रेणियां आरक्षित की गयी हैं।

रक्षा अधिग्रहण प्रक्रिया 2020 एक “भारतीय विक्रेता“ को एक ऐसी कंपनी के रूप में परिभाषित करता है, जिसका स्वामित्व और नियंत्रण भारतीय निवासी नागरिकों के पास है एवं जिसमें प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) 49 प्रतिशत से अधिक नहीं है।

नई खरीद (भारत में वैश्विक–विनिर्माण) श्रेणी:

यह प्रौद्योगिकी हस्तांतरण के साथ भारत में विनिर्मित करने के आशय से की गयी विदेशी खरीद के समग्र अनुबंध मूल्य के कम से कम 50 प्रतिशत भाग के स्वदेशीकरण को निर्धारित करता है।

स्वदेशीकरण की आवश्यकताओं की पूर्ती करने के क्रम में, यह विक्रेता को विदेशों में तैयार किए गए अधिकांश उपकरणों की आपूर्ति करने के स्थान पर भारत में उपकरण बनाने के लिए बाध्य करेगा।

अधिकाधिक स्वदेशी सामग्री का उपयोग:

यह लाइसेंस के तहत भारत में निर्मित उपकरणों सहित हथियारों और सैन्य खरीद के उपकरणों में अधिक से अधिक स्वदेशी सामग्री के उपयोग को बढ़ावा देता है। अधिकांश अधिग्रहण श्रेणियों में, रक्षा खरीद प्रक्रिया (डीपीपी) 2016 की तुलना में रक्षा अधिग्रहण प्रक्रिया 2020 में 10 प्रतिशत अधिक स्वदेशीकरण के अनुबंध शामिल हैं।

स्वदेशी सामग्री का मापन:

अब स्वदेशी सामग्री की गणना “आधार अनुबंध मूल्य” पर की जाएगी, जिसे कुल अनुबंध मूल्य में से करों एवं शुल्कों के मूल्य को घटाकर प्राप्त किया जाता है।

आयात व्यापार प्रतिषेध सूची:

विगत माह में सरकार द्वारा प्रवर्तित 101 मदों की “आयात व्यापार प्रतिषेध सूची” को रक्षा अधिग्रहण प्रक्रिया 2020 में भी विशेष रूप से शामिल किया गया है।

(व्यापार प्रतिषेध एक सरकारी आदेश होता है, जो एक निर्दिष्ट देश से व्यापार अथवा विशिष्ट वस्तुओं के आदान-प्रदान को प्रतिबंधित करता है।)

ऑफसेट देयता:

सरकार ने यह निर्धारित किया है कि यदि अंतर–सरकारी समझौते (IGA), सरकार–से–सरकार अथवा प्रारंभिक एकल विक्रेता के माध्यम से सौदा किया जाता है, तो सरकार रक्षा उपकरणों की खरीद में ऑफसेट क्लॉज का प्रावधान नहीं रखेगी।

ऑफसेट क्लॉज़ के प्रावधान के तहत एक विदेशी विक्रेता के लिए यह आवश्यक होता है की वह अनुबंध मूल्य के एक भाग का निवेश भारत में करे।

भारतीय संविधान के अन्‍तर्गत संविधान में संशोधन सम्‍बन्‍धी पहल का अधिकार किसे हैं?

 राष्ट्रपति

प्रधानमंत्री

भारतीयय संसद 

अटॉर्नी जनरल

किस संविधान संशोधन अधिनियम ने राज्‍य के नीति निर्देशक तत्‍वों को मौलिक अधिकारों की अपेक्षा अधिक प्रभावशाली बनाया? 

 42

 34

 57

 100


👉Visit us: Daily Current Affairs Videos in Hindi

👉Follow us: You Tube Telegram Facebook Twitter

No comments:

Post a Comment