Tuesday, December 28, 2021

What is true love for UPSC aspirants|| सच्चा प्रेम क्या होता है ? || How to Crack upsc Exam in 2022|| Prabhat Exam

सच्चा प्रेम क्या होता है? | What is true Love for upsc aspirant

प्रेम एक अद्भुत भाव है। यह कब, किसको, किससे हो जाए, पता नहीं। अक्सर हम प्रेम को दो व्यक्तियों के बीच में imagine करते हैं लेकिन कई बार यह भाव किसी ऐसी चीज के लिए भी जागृत हो जाता है जो आपके जीवन का लक्ष्य बन जाती है। ऐसा ही एक प्रेम है यूपीएससी, जो कई aspirants जाने-अंजाने कर बैठते हैं। अगर देखा जाए तो इस exam में qualify करने के लिए यह बेहद जरूरी है कि आप इससे दीवानों की तरह प्यार करें। हर वक़्त बस इसी के सपने देखें और इसे पाने के लिए हर बलिदान देने को तत्पर रहें। 

नमस्कार, स्वागत है आपका Prabhat Exam के Youtube Channel पर। यह एक ऐसा Platform है, जहां आपको मिलती हैं सभी Competitive exams से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां, जो आपकी किसी भी exam में सफल होने में काफी मदद कर सकती हैं। अगर आप हमारे YouTube Channel पर पहली बार आए हैं, तो हमें Like और Subscribe ज़रूर करें और हमारे latest videos और updates सबसे पहले आप तक पहुँचें इसके लिए Bell icon को press करना ना भूलें। तो आइए शुरूआत करते हैं आज के video की, जो है – 

What is true Love for upsc aspirant

  • सबसे पहला सवाल यह उठता है कि क्या आपको अभी तक यूपीएससी से प्यार हुआ है या नहीं? आपको बड़ी बारीकी के साथ इस तथ्य की जाँच-पड़ताल करनी पड़ेगी कि आईएएस बनना आपका ऊपरी दिखावा भर है या आपकी आंतरिक जरूरत है। यह वैसी ही बात है कि आपको किसी से सच्चा प्रेम है या केवल ऊपरी आकर्षण भर। 
  • यदि यह आपकी आंतरिक जरूरत है, यदि आपको किसी से सच्चा प्रेम है, तो आपको अपने प्रेमी की हर चीज सुहावनी लगने लगती है, वह चीज भी, जिससे दूसरे लोग चिढ़ते हैं। आप उससे मिलने को बेचैन रहते हैं और आपको लगता है कि यदि वह नहीं मिली/मिला, तो पूरी जिंदगी अधूरी रह जाएगी। इसलिए आप उसे पाने के लिए कुछ भी करने को तैयार हो जाते हैं। 
  • आईएएस बनने के लिए आपको ग्रेजुएट होना होता है यानी कि इसकी पढ़ाई करने से पहले आप कम से कम चौदह सालों तक पढ़ाई कर चुके हैं। पढ़ाई के अनुभव की यह पूँजी आपके पास मौजूद है। 
  • आप जानते हैं और आप ही अच्छी तरह से जानते हैं कि पढ़ने में आपको मजा आता है या नहीं। यदि यह आपको बोझ लगता है, तो फिर यह आपके लायक नहीं है। पढ़ने में रुचि से मतलब रोजाना 15-15 घण्टे और इस तरह लगभग तीन-चार साल तक पढ़ते रहने की क्षमता से नहीं है बल्कि मतलब तो सिर्फ इस बात से है कि फिलहाल आप इसको एन्जॉय करते हैं या नहीं। बाद में भले ही जिन्दगी भर किताबों का मुँह मत देखिएगा, लेकिन फिलहाल तो आपकी उनसे मुहब्बत होनी ही चाहिए और उनमें स्वाद भी आना ही चाहिए, क्योंकि यही काम तो आपको मुख्य रूप से करना है। 
  • आईएएस बनने का सारा काम ही पढ़ना और पढ़े हुए को लिखने का है। यह कतई जरूरी नहीं है कि आप खूब पढ़ें और पढ़ते ही रहें। यह फालतू की बात है और जो लोग ऐसा कहते हैं, वे मूलतः अपनी बातों से स्टूडेन्ट्स के दिमाग में एक आतंक पैदा करना चाहते हैं। 
  • मैं समझता हूँ कि यदि कोई प्रतियोगी पूरी गम्भीरता और प्रतिबद्धता के साथ रोजाना पाँच से छह घंटे पढ़ता है, तो वह पर्याप्त है। हाँ, यह पढ़ाई पूरी रुचि के साथ होनी चाहिए, खानापूर्ति के रूप में नहीं।

  • क्या आपने कभी एक सीरियस यूपीएससी aspirant को ध्यान से देखा है? उसकी शक्ल आपको किसी दीवाने सी ही नजर आएगी। उठते  - बैठते, सोते जागते उसके दिमाग में बस एक ही बात चलती रहती है – यूपीएससी। वह जो भी करता है, यह सोच कर करता है कि ऐसा करने से क्या उसे upsc qualify करने में मदद मिलेगी। 
  • वह हर वक़्त सिर्फ अपने प्यार यानि कि यूपीएससी के बारे में ही सोचता रहता है। कहीं से भी बस उम्मीद की एक किरण नज़र आनी चाहिए, वह बिना कुछ सोचे उस राह पर चल देता है जहां उसे लगता है कि उसका प्यार उसे मिल जाएगा। अगर यह सच्चा प्रेम नहीं है तो और क्या है?

अगर आपको हमारा यह video पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share करें, और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल है, तो उसे Comment में लिखकर हमें बताएँ। जल्द ही आपसे फिर मुलाकात होगी एक नए topic पर एक नए video के साथ।

देखते रहिए 

Prabhat Exam

नमस्कार


Please Follow Us :  Youtube  Twitter  Telegram  Facebook  Instagram  Whatsapp


No comments:

Post a Comment